सीएम का कार्यक्रम:कालाजार एकेडमिक डिस्ट्रिक्ट की श्रेणी से दुमका मुक्त, मुख्यमंत्री ने किया कालाजार पुस्तिका का विमोचन

दुमका10 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
आदिवासी समुदाय के लोगों के बीच मुख्यमंत्री। - Dainik Bhaskar
आदिवासी समुदाय के लोगों के बीच मुख्यमंत्री।

उप राजधानी दुमका में गणतंत्र दिवस की पूर्व संध्या पर मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन द्वारा लगभग 33 करोड़ की लागत से निर्मित कन्वेंशन सेंटर का विधिवत रूप से उदघाटन किया गया। इस मौके पर मुख्यमंत्री ने विभिन्न विभागों के माध्यम से कुल 10 अरब 95 करोड़ 60 लाख 57890 रुपये की लागत से क्रियान्वित होने वाली योजनाओं का ऑनलाइन शिलान्यास व उद्घाटन किया।

इसमें 86 योजनाओं का शिलान्यास व 24 योजनाओं का उद्घाटन किया गया है। इस मौके पर मुख्यमंत्री ने 103 लोगों को नियुक्ति पत्र सौंपा जबकि एक अरब 59 करोड़ 37 लाख 77221 रुपये की परिसंपत्तियों का वितरण लाभुकों के बीच किया। इस अवसर पर मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन ने कहा कि राज्य की उप राजधानी होने के नाते यहाँ मूलभूत सुविधाओं का होना आवश्यक है।

यह कन्वेंशन सेंटर उसी कड़ी के तहत है। दुमका संथाल परगना प्रमंडल का केंद्र है। इस नाते भी इसकी एक अलग पहचान है। उन्होंने कहा कि अभी बहुत सारी नई योजनाओं के माध्यम से दुमका को जोड़ना बाकी है।कन्वेंशन सेंटर के उदघाटन हो जाने से कई महत्वपूर्ण राज्य तथा राष्ट्रीय स्तर के कार्यक्रमों का आयोजन करने में आसानी होगी।

याेग्य लाेगाें काे सरकारी याेजनाओं का लाभ दें | उन्होंने कहा कि पंचायत तथा गांव के लोग जिन्होंने प्रखंड कार्यालय कभी नहीं देखा उन तक प्रखंड कार्यालय खुद पहुंचकर उनकी समस्याओं का निष्पादन कर रहा है। गरीबों तथा योग्य लोगों को सरकार की योजनाओं का लाभ देना सरकार की प्राथमिकता तथा संकल्प है। सांसद, मंत्री, विधायक लोगों तक पहुंच कर उनकी समस्याओं को जान रहे हैं तथा उसे दूर करने का कार्य कर रहे हैं।

अपने स्वागत संबोधन में उपायुक्त ने कहा कि मुख्यमंत्री तथा विभागीय पदाधिकारियों के निदेश के आलोक में प्रयास करने के पश्चात एवं फ्रंट लाइन के सार्थक प्रयास से दुमका जिला कालाजार एकेडमिक डिस्ट्रिक्ट की श्रेणी से बाहर हो चुका है।कहा कि दुमका में किसी भी प्रकार के सरकारी कार्यक्रम हेतु एक मात्र इंडोर स्टेडियम ही उपलब्ध था। इस कन्वेंशन सेंटर के उदघाटन हो जाने से कई महत्वपूर्ण कार्यक्रम का आयोजन किया जा सकेगा।

मुख्यमंत्री द्वारा लाभुकों के बीच परिसंपत्तियों तथा नियुक्ति पत्र का वितरण भी किया गया। इससे पूर्व अतिथियों का स्वागत पुष्प गुच्छ देकर किया गया। पारंपरिक रीति रिवाज से अतिथियों का स्वागत किया गया एवं दीप प्रज्वलित कर कार्यक्रम की शुरूआत की गयी।

जल जीवन मिशन याेजना की अधिकारी लगातार करें माॅनिटरिंग
उन्होंने कहा कि जिला स्तर पर अधिकारी निरंतर जल जीवन मिशन योजना की मॉनिटरिंग करें ताकि योजना का क्रियान्वयन तेजी से किया जा सके।मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन ने कहा कि कागजी कार्रवाई के पश्चात राज्य में योजनाओं का क्रियान्वयन सही ढंग से हो रहा है अथवा नहीं इसकी जांच भी सरकार जिले स्तर पर समीक्षा बैठक कर कर रही है।

सभी अपने जिम्मेवारी का निर्वहन ईमानदारी पूर्वक करें ताकि सभी कार्य गुणवत्तापूर्ण तथा निर्धारित समय सीमा में पूर्ण हो सके। कार्यक्रम में दुमका विधायक बसंत सोरेन, विधायक शिकारीपाड़ा नलिन सोरेन, सांसद राजमहल विजय हांसदा, जिला परिषद अध्यक्षा श्रीमती जॉयस बेसरा आदि उपस्थित थे।

खबरें और भी हैं...