जिला स्तरीय विशेष कैंप का आयोजन:शिविर में पेंशन के लिए 56 आवेदन को मिली मंजूरी, 36 मरीजों की मनोचिकित्सक ने की जांच

गढ़वा15 दिन पहले
  • कॉपी लिंक

रविवार को समाहरणालय स्थित सभाकक्ष में पर्किन्सन, थैलीसीमिया, सिकल सेल, हीमोफीलिया, कुष्ठ, बौनापन व अन्य बीमारी से ग्रसित मरीजों को दिव्यांगता प्रमाण-पत्र और पेंशन के लिए जिला स्तरीय विशेष कैंप का आयोजन जिला प्रशासन और स्वास्थ्य समिति की ओर से किया गया। जिसमे जिले के विभिन्न प्रखंडों से करीब चार सौ लोग दिव्यांगता प्रमाण-पत्र व पेंशन स्वीकृति के लिए पहुंचे। विशेष कैंप का उद्घाटन उपायुक्त रमेश घोलप ने दीप प्रज्ज्वलित कर किया। उन्होंने कहा कि जिले के दिव्यांगों को सुविधा मुहैया कराने को लेकर जिला प्रशासन की ओर से इस विशेष कैंप का आयोजन किया गया। ताकि उन्हें दिव्यांगता प्रमाण पत्र के लिए कार्यालयों का चक्कर नहीं लगाना पड़ें।

उपायुक्त ने कहा कि सरकार की ओर से संचालित विकास कार्यों के अलावा गरीबों, वृद्ध, लाचार लोगों के प्रति विशेष ध्यान है। जिन लोगों का कोई सहारा नहीं उनका सहारा जिला प्रशासन बनेगा। उन्होंने कहा कि लोगों की सुविधा के लिए दो काउंटर बनाया गया है। मुख्यमंत्री के आदेशा पर कैंप लगाया गया है। जिसमें सभी तरह के दिव्यांगो का जांच के बाद तत्काल प्रमाण-पत्र के साथ पेंशन योजना से जोड़ा जा रहा है। जिले में 15 हजार से अधिक दिव्यांगों को ऑनलाइन किया जा चुका है। इस कैंप के माध्यम से दिव्यांगो को काफी सहुलियत होगी।

विभिन्न बीमारियों से ग्रसित, दिव्यांगता व पेंशन के लिए सामाजिक सुरक्षा कोषांग के तहत एचआईवी पीड़ित व्यक्ति पेंशन के लिए 29, सिकल सेल, थैलीसीमिया, हिमोफिलिया, ब्लड डिसॉर्डर के मरीजों की कुल संख्या 19 व पेंशन स्वीकृति के लिए 56 आवेदन प्राप्त हुआ। 36 मरीजों का मनोचिकित्सक द्वारा जांच किया गया। 13 मरीजों की नेत्र चिकित्सक द्वारा जांच किया गया।

50 हड्डी से संबंधित मरीजों की जांच की गई। नाक, कान व गला के मरीजों की संख्या 10, फिजिसियन द्वारा देखे गए कुल मरीजों की संख्या 21, यूडीआईडी कार्ड निर्गत की संख्या 26, एआईडीएस पीड़ित रोगियों की संख्या 29, सिकल सेल, थैलेसीमिया, हीमोफीलिया, ब्लड डिसऑर्डर के मरीजों की संख्या 19 पाया गया।

खबरें और भी हैं...