शराब मिलने में समस्या:लोगों को पसंदीदा ब्रांड की नहीं मिल पा रही है शराब

गढ़वाएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक

जिले में मई महीने से शुरू की शराब ब्रिक्री में नई नियम लागू किए जाने से बीयर की किल्लत हो गई है। वहीं लोगों को पसंदीदा ब्रांड भी नहीं मिल पा रहा है। जिससे लोगों को परेशानी हो रही है। विदित हो कि वर्ष 2022-23 से सरकार की ओर से शराब की ब्रिकी की जा रही है।

इसके तहत शुरूआती महीने में व्यवस्था दुरुस्त नहीं किया जा सका है। जिससे लोगों को परेशानी हो रही है। हालांकि नए व्यवस्था के तहत पुराने ब्रांड धीरे-धीरे समाप्त होने के कगार पर है। वहीं नए ब्रांड का स्वाद अब लोग ले सकेंगे।

साथ ही प्लास्टिक के बोतल को बंद करने की कार्रवाई शुरू की गई है। अब देशी शराब भी कांच के बोतल में ही मिलेगा।जिले में 54 दुकान संचालित की जा रही है : जिले में सरकार की ओर से पूर्व की तरह ही सभी 54 दुकानों को विभिन्न जगहों पर संचालित की जा रही है।

वहीं सरकार की ओर से विभाग को वार्षिक लक्ष्य 46 करोड़ 68 लाख रुपये दिया गया है। लक्ष्य के अनुरूप सभी संचालित दुकानों को भी लक्ष्य निर्धारित जिला स्तर पर किया गया है। ताकि राजस्व में विभाग को किसी प्रकार की क्षति नहीं हो। जिले के उत्पाद अधीक्षक सुजीत कुमार ने कहा कि हर बार नियम बदलने पर व्यवस्था को सुव्यवस्थित करने में थोड़ा समय लगता है।

खबरें और भी हैं...