धर्म समाज:जितिया पर्व पर माताओं ने पुत्र की लंबी आयु की कामना की

रंका15 दिन पहले
  • कॉपी लिंक

बच्चों की लम्बी आयु के कामना को लेकर माताओं ने अपने पुत्र- पुत्रियों के लिए 24 घंटा निर्जला जीवित पुत्रिका व्रत रखा।रंका अनुमंडल मुख्यालय सहित अन्य भू भागों में परम्परागत रूप से महिलाओं ने अपने संतान के सूख मय जीवन के लिए यह त्योहार रखा ।यहाँ के प्रसिद्ध आचार्य भोलेनाथ पाण्डेय ने कहा कि ऐतिहासिक घटना यह है कि एक गरुड़ और एक मादा लोमड़ी नर्मदा नदी के पास एक हिमालय के जंगल में रहते थे।

दोनों ने कुछ महिलाओं को पूजा करते और उपवास करते देखा, और खुद भी इसे देखने की कामना की। उनके उपवास के दौरान, लोमड़ी भूख के कारण बेहोश हो गई और चुपके से भोजन किया। दूसरी ओर, चील ने पूरे समर्पण के साथ व्रत का पालन किया और उसे पूरा किया। परिणामस्वरूप, लोमड़ी से पैदा हुए सभी बच्चे जन्म के कुछ दिन बाद ही खत्म हो गए और चील की संतान लंबी आयु के लिए धन्य हो गई।

मां शेरावाली भंडारा समिति करेगा भंडारा का आयोजन

गढवा| जिला मुख्यालय में शारदीय नवरात्र को लेकर पूजा समितियों के द्वारा तैयारियां जोर शोर से मूर्ति निर्माण एवं भव्य पंडाल का निर्माण कराया जा रहा है।तो वही जिला मुख्यालय में स्थित मां गढ़देवी मन्दिर के प्रांगण में जय मां शेरावाली भंडारा समिति के बैनर तले भव्य भंडारा का आयोजन लगातार नवरात्र में किया जाता है। औऱ इस वर्ष भी किया जाएगा। जिसे लेकर जय मां शेरावाली भंडारा समिति के सभी सदस्यों के द्वारा सुनील कुमार पासवान की अध्यक्षता में मां गढ़देवी मंदिर में बैठक संपन्न हुई।

खबरें और भी हैं...