अहिल्यापुर थाना क्षेत्र का मामला:बच्चा चोर की अफवाह में भीड़ का शिकार हुआ गांडेय का युवक, पीएमसीएच धनबाद में मौत

गांडेय6 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
रोत बिलखते परिजन। - Dainik Bhaskar
रोत बिलखते परिजन।

पेट दर्द का इलाज कराने पीएमसीएच धनबाद गये गांडेय का एक युवक बच्चा चोर के शक में भीड़ का शिकार हो गया। पीएमसीएच धनबाद में भर्ती युवक गुरुवार रात को अपने बेड से गायब हो गया था। सुबह धनबाद के कोल्हापुर कुसुमाटांड़ में वह अधमरे स्थिति में मिला। आनन फानन में उसे पुनः पीएमसीएच धनबाद लाया जहां उसकी मौत हो गई। मृतक गांडेय प्रखंड अंतर्गत अहिल्यापुर थाना क्षेत्र के बुधुडीह गांव निवासी भुकर रवानी का 27 वर्षीय पुत्र प्रदीप रवानी था। हालांकि कानूनी पेंच के भय से परिजनों ने शव को बगैर पोस्टमार्टम कराए घर लाया और शनिवार को दाह संस्कार कर दिया।

जानकारी के अनुसार प्रदीप रवानी को पेट दर्द की शिकायत के बाद बुधवार को मां मालती देवी, बहनोई पिंटू रवानी लेकर पीएमसीएच धनबाद पहुंचे। मां मालती देवी ने बताया कि पीएमसीएच धनबाद में भर्ती होने के बाद प्रदीप का पेटदर्द में आराम मिला। तत्पश्चात उनके दामाद अपने घर चले गए। रात में प्रदीप की मां सो गई। सुबह नींद खुली तो प्रदीप हॉस्पिटल से गायब था। तत्पश्चात उसकी खोजबीन होने लगी। प्रदीप की माता ने घटना की सूचना अपने दामाद को दी। खोजबीन के क्रम में पता चला कि एक व्यक्ति के साथ धनबाद के कोला कुसमा के पास बच्चा चोर के आरोप में पिटाई हुई है।

अनाथ हो गए तीन बच्चे
मृतक प्रदीप रवानी अपने पीछे पत्नी तथा तीन अबोध बच्चे व भरा पूरा परिवार छोड़ गया है।घटना के बाद उसकी पत्नी लक्ष्मी देवी के आंसू थम नहीं रहे हैं। अबोध बच्चे क्रमशः रानी कुमारी(5 वर्ष), तान्या कुमारी (3 वर्ष), आर्यन कुमार (1 वर्ष) सिर्फ मां के रोते चेहरे को एकटक देख फफक रहे हैं। उन्हें यह भी पता नहीं है कि उसके सिर से पिता का साया उठ गया है। प्रदीप की मौत से बुधूडीह में मातम का माहौल है।

खबरें और भी हैं...