जागरूकता कार्यक्रम:गुमला की 13 पंचायतों में लीगल एड क्लीनिक शुरू, अंधविश्वास पर किया जाएगा जागरूक

गुमलाएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक

झालसा के निर्देश पर जिला एवं सत्र न्यायाधीश सह अध्यक्ष जिला विधिक सेवा प्राधिकार गुमला के तत्वावधान में गुमला सदर की 13 पंचायतों के पंचायत भवनों में अस्थाई लीगल एड क्लीनिक खोला गया है। जहां पीएलबी को नियुक्त किया गया है और पैनल लॉयर को समय समय में विजिट करने का आदेश दिया गया है।

वे डायन बिसाही की समस्या पर रोकथाम नुक्कड़ नाटक व जागरुकता लाकर करेंगे। लीगल एड क्लीनिक का उद्घाटन जिला एवं सत्र न्यायाधीश सह अध्यक्ष जिला विधिक सेवा प्राधिकार गुमला संजय कुमार चांदहरियावी ने ऑनलाइन किया।

इस संबंध में उन्होंने बताया कि लीगल एड क्लीनिक के खुलने से वहां प्रचार प्रसार के माध्यम व नुक्कड़ नाटक से लोगों को जागरूक किया जाएगा। इससे डायन संबंधित समस्या की रोकथाम में काफी सहयोग मिलेगा। लोगों का अंधविश्वास समाप्त होगा और लोगों को कानून संबंधी भी जानकारी मिलेगी।

सचिव पार्थसारथी घोष ने कहा कि डायन बिसाही की समस्या को दूर करने के लिए यह लीगल क्लीनिक एड काफी प्रभावशाली साबित होगा। इसमें 13 पंचायतों के पंचायत भवनों में अभी पीएलबी के द्वारा यह कार्यक्रम चलाया जाएगा। पैनल लॉयर के द्वारा भी समय-समय पर विजिट किया जाएगा। लोगों में जागरुकता होगी और अंधविश्वास दूर होगा। इससे डायन जैसी कुप्रथा को हम लोग समाप्त कर पाएंगे।

इन पंचायतों में खुले अस्थाई क्लीनिक
13 पंचायतों में डूमरडीह,खोरा, कलिगा, फोरी, घाघरा, बद्री, डुको, कोहीपाठ,रेडवा, ऑलमुंडा, दुमबो, कामडारा व चैनपुर शामिल हैं। ऑनलाइन प्रोग्राम में पीएलबी मीना कुमारी, तेतरी उरांव नीलम लकड़ा, नवीना साहू, नरेंद्र कुमार यादव व लक्ष्मण मोची आदि शामिल थे।

खबरें और भी हैं...