• Hindi News
  • Local
  • Jharkhand
  • Gumla
  • Police Remembrance Day: At The Time Of Telling The Problems To The SP, The Eyes Of Many Family Members Of The Martyr Were Moist.

गुमला में शहीद पुलिस जवानों को दी श्रद्धांजलि:पुलिस संस्मरण दिवस : एसपी को समस्याएं बताने के समय शहीद के कई परिजनों की आंखें हुईं नम

गुमलाएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
श्रद्धांजलि देते एसपी। - Dainik Bhaskar
श्रद्धांजलि देते एसपी।

जिला पुलिस प्रशासन द्वारा शुक्रवार को लोहरदगा रोड स्थित पुलिस लाइन चंदाली में पुलिस स्मरण दिवस कार्यक्रम का आयोजन किया गया। मौके पर एसपी डॉक्टर एहतेशाम वकारीब ने नक्सलियों व उग्रवादियों से लोहा लेते हुए शहीद हुए पुलिस पदाधिकारी व जवानों को याद कर उन्हें श्रद्धांजलि दी गई। इसके बाद शहीद जवानों के परिजनों को शॉल ओढ़ाकर सम्मानित किया। साथ ही एक-एक कर उनकी समस्याएं सुनी। एसपी को समस्या बताने के दौरान शहीद के कई परिजनों के आंखें नम हो गई। एसपी ने परिजनों को उनकी समस्याओं का त्वरित निष्पादन का आश्वासन दिया।

कहा कि शहीद के परिजन उनके आश्रित पुलिस प्रशासन के अभिन्न अंग है। हम उनके दु:ख के साथी हैं। शहीद का दर्जा प्राप्त होना गर्व की बात है। जिला बल के कई जवानों ने अलग राज्य निर्माण के बाद नक्सलियों व उग्रवादियों से लोहा लेने के क्रम में अपने प्राणों की आहुति दी। एसपी ने कहा कि 1 सितंबर 2021 से 31 अगस्त 2022 तक भारत में 264 पुलिस एवं अर्धसैनिक बलों के जवान तथा पदाधिकारी शहीद हुए हैं।

इनमें राज्य के विभिन्न जिलों के 2 जवान शामिल हैं। जिनमें ठाकुर हेम्ब्रोम व शंकर नायक शामिल हैं। जबकि झारखंड राज्य के गठन से अब तक गुमला जिला बल के 15 पुलिसकर्मी शहीद हुए हैं। इनमें लखन मुरमू, गोपाल सिंह, राम बदन सिंह, क्रिस्टोफर मिंज, श्याम किशोर सिंह, ओमप्रकाश सिंह, हरेंद्र मिश्रा, राम उदय महतो, गंगाधर महतो, आलोक कुमार राय, वीरेंद्र कुमार सिंह, परमा यादव, सुरेंद्रनाथ स्वांसी, अजय कुमार सिंह व प्रकाश मिंज शामिल हैं। एसपी ने कहा कि वैसे शहीद जो सेना व अर्धसैनिक बल के जवान हैं जिन का पैतृक निवास गुमला है। उन शहीदों में 6 लोग शामिल हैं। कहा कि पुलिस की नौकरी में शुरुआत से ही कर्तव्य के प्रति ईमानदारी पूर्वक निर्वहन करने के साथ देश की मिट्टी पर कुर्बान होने का जज्बा सभी पुलिसकर्मी के और उस को परिभाषित करती है।

खबरें और भी हैं...