बाल दिवस पर प्रखंड स्तरीय कार्यशाला का आयोजन किया:बाल विवाह पर रोक लगाने और बेटियों को पढ़ाने पर जोर

पालकोट2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
कार्यशाला में किशोरियों को पुरस्कृत करते अतिथि। - Dainik Bhaskar
कार्यशाला में किशोरियों को पुरस्कृत करते अतिथि।

पालकोट प्रखंड कार्यालय के सभाकक्ष में सृजन फाउंडेशन गुमला के तत्ववाधान में बाल दिवस पर प्रखंड स्तरीय कार्यशाला का आयोजन किया गया। सृजन फाउन्डेशन द्वारा बाल दिवस सप्ताह के रूप में मनाया गया। इस अवसर पर जगह-जगह पर स्कूल एवं ग्रामीण स्तर पर बच्चों को उनके शिक्षा और अधिकार को लेकर विशेष रुप से जानकारियां दी गई।

बच्चों का मनोरंज के लिए तरह तरह का खेल, फुटबॉल मैच, बिस्कुट रेस, कुर्सी रेस, चम्मच रेस, बाल विवाह एवं बाल श्रम से संबंधित नुक्कड़ नाटक, क्विज प्रतियोगिता आदी कार्यक्रम के माध्यम से लोगों को बाल अधिकार एवं शिक्षा को लेकर जागरुक किया गया। सृजन फाउन्डेशन के द्वारा बच्चों को थाना और व्लॉक एक्सपोजाल विजिट कराया गया। पूरे सप्ताह में किया गया खेल में प्रथम स्थान, तृतीय स्थान, तृतीय स्थान प्राप्त करने वाले सभी प्रतिभागियों को पुरस्कार देकर पुरस्कृत किया गया।

जानकारी के अनुसार सृजन फाउन्डेशन के जिला समन्वयक धनमैत सिंह के द्वारा सृजन फाउंडेशन का परिचय के साथ किया गया।धनमैत सिंह के द्वारा बतलाया गया सृजन फाउन्डेशन गुमला जिले में 2015 से बच्चे किशोरियों और महिलाओं के सुरक्षा और अधिकार को लेकर कार्य कर रही हैं।और इसी दौरान सृजन फाउन्डेशन द्वारा अलग अलग जगहों पर अलग अगल गतिविधि के माध्यम उसके खेल कूद कराया गया है।

उसका पुरस्कार सभी प्रतिभागियों के बीच वितरण के लिए यह कार्यशाल का आयोजन किया गया है। इस अवसर पर खुशबू द्वारा बच्चों को शिक्षा के क्षेत्र में आगे बढ़ने के लिए प्रोत्साहित किया गया। उन्होंने कहा कि पढ़ाई बहुत जरुरी है। इसके बारे में जानकारी दिया गया। बाल विवाह को रोकने के लिए किशोरियों को खुद आगे आकर प्रतिरोध करने के लिए बोला गया।

इस अवसर पर प्रमुख सोनी लकड़ा के द्वारा मानव तस्करी पर किशोरियों को जानकारी दी गई। 18 वर्ष से कम उम्र की बच्चें बच्चियों को बाहर काम करने के लिए नही जाना चाहिए ये बाल श्रम है। इसकी जानकारी दी। जिला परिषद सदस्य शांति देवी के द्वारा हर किशोर किशोरियों को ग्रेजुएशन तक की पढ़ाई पूरा करने के बाद शादी करने की जानकारी दी गई। बच्चों को पढ़ाई के साथ-साथ खेल में भी शामिल होने के लिए प्रोत्साहित किया गया।

कार्यशाला में बंगरु पंचायत मुखिया पूनम एक्का, बघिमा पंचायत की मुखिया जुस्फीन टेंट, सृजन फाउंडेशन के जिला समन्वयक तृप्ति टोपनो, सृजन के कार्यकर्ता जागरनाथ नायक, सत्यम सोनी, अल्पना मिंज, रेखा कुमारी, ममता कुमारी आदि सहित अनेक लोग उपस्थित थे।

खबरें और भी हैं...