मुश्किल में अन्नदाता:उचित दाम नहीं मिलने से सड़क पर फेंकी भिंडी

बड़कागांवएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक

बड़कागांव के प्रसिद्ध दैनिक बाजार में हरी सब्जियों के उचित दाम नहीं मिलने से नाराज किसानों ने भिंडी को सड़क पर फेंक कर विरोध जताया है। सड़क पर ही हरे भिंडी को फेंक कर चले गए। सड़क पर भिंडी फेंके जाने के कारण दर्जन भर दोपहिया बाइक चालक गिर कर घायल हाे गए।

यह देख बड़कागांव बाजार समिति के सफाई कर्मचारी हरेंद्र भुइयां ने तुरंत सड़क पर पहुंचकर रोड पर बिखरे भिंडी को उठाकर रोड के किनारे किया जिससे सड़क में पहले की तरह आवागमन सामान्य हो गई।

बड़कागांव दैनिक बाजार की सब्जियों के दाम में 2 से 5 रुपये प्रति किलो भिंडी, खीरा ₹5 प्रति किलो, करेला ₹5 प्रति किलो, बोदी ₹10 प्रति किलो, बैंगन ₹10 प्रति किलो, मकई ₹10 प्रति किलो, कोहड़ा ₹5 प्रति किलो, कद्दू ₹5 प्रति किलो, झींगी व परोर ₹5 प्रति किलो, लहसुन ₹30 प्रति किलो, तरबूज ₹10 से ₹15 प्रति किलो के दर पर बेची जा रही है। इसके अलावा कई अन्य ऐसे हरी सब्जियां हैं जो ₹5 से ₹20 प्रति किलो की दर से बेची जा रही है।

एक रुपए किलाे की दर से मांगते हैं बिचाैलिए
वहीं किसानों का आरोप है कि उन्हें भिंडी के उचित दाम नहीं मिल रहे हैं कुछ बिचौलिए भिंडी की खरीदारी करने आते भी हैं तो वह ₹1 प्रति किलो की दर से मांग करते हैं। जबकि वह दूसरे शहर में ले जाकर उसे 5 से 7 रुपये प्रति किलो के दर पर बेचते हैं।

खेती करने में हजारों रुपए लग जाते हैं। जबकि हमें उसका एक चौथाई तक नहीं मिल पा रहा है। बता दें कि पिछले एक सप्ताह से हरी सब्जियों के दाम महज ₹1 से ₹5 प्रति किलो में बेची जा रही। जिससे किसानों के चेहरे पर मायूसी देखी जा रही है।

खबरें और भी हैं...