बैठक में निर्णय:विभावि में अगले शैक्षणिक सत्र से स्नातक में कॉमन अंडरग्रेजुएट एंट्रेंस टेस्ट से होगा विद्यार्थियों का नामांकन

हजारीबागएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक

विनोबा भावे विश्वविद्यालय हजारीबाग में अगले शैक्षणिक सत्र 2023 -26 से कॉमन अंडरग्रेजुएट एंट्रेंस टेस्ट, सीयूईटी आयोजित किया जाएगा। इसी के आधार पर विद्यार्थियों का नामांकन विभिन्न स्नातक पाठ्यक्रमों में लिया जाएगा।

कुलपति डॉ मुकुल नारायण देव ने इस मामले में सभी संकाय अध्यक्ष, विभागाध्यक्ष और प्राचार्य के साथ बैठक की। आर्यभट्ट सभागार में लगभग ढाई घंटे तक चले वैचारिक विमर्श में इसी साल से एंट्रेंस टेस्ट आयोजित करने के मुद्दे पर डॉ एसएस सुमन और डॉक्टर सरोज कुमार सिंह ने सहमति जताई।

शेष पदाधिकारियों और विभागाध्यक्ष ने एंट्रेंस टेस्ट को अगले साल से लागू करने का सुझाव दिया। शिक्षकों ने कहा कि एंट्रेंस टेस्ट प्रारंभ करने से पहले पाठ्यक्रम तैयार हो जाना चाहिए परीक्षा के पैटर्न उसका सिलेबस भी तैयार हो जाए और उससे विद्यार्थियों को अवगत कराने के बाद ही प्रवेश परीक्षा आयोजित करना उचित होगा।

कुलपति ने शिक्षकों की राय सुनी। उन्होंने कहा कि वर्तमान सत्र में सीयूईटी के माध्यम से स्नातक में नामांकन नहीं लियका जा सकेगा। अगले सत्र से इस प्रक्रिया के तहत नामांकन के लिए अभी से ही तैयारी शुरू कर दी जा रही है।

राष्ट्रीय शिक्षा नीति पर विस्तार से चर्चा
बैठक में राष्ट्रीय शिक्षा नीति के बारे में विस्तार से चर्चा की गई। विभिन्न सेमेस्टर में क्रेडिट के तरीके कैसे अपनाए जाएंगे तथा कौन-कौन सेमेस्टर में किन विषयों को विद्यार्थी पढ़ पाएंगे इसके बारे में भी वक्ताओं ने अपनी राय प्रकट की।

शिक्षकों को बताया गया कि रांची में विगत चार दिनों से विभिन्न विश्वविद्यालयों के विद्वान इस विषय पर गहन मंथन कर रहे हैं। मंथन में विश्वविद्यालय की ओर से डॉ इंद्रजीत कुमार प्रतिनिधित्व कर रहे हैं। बैठक से निकले निष्कर्ष के बाद ही अगले कदम उठाए जा सकेंगे।

बैठक में डॉ राजेश कुमार, डॉ अजय शर्मा, डॉ विनोद रंजन, डॉ अविनाश कुमार, डॉ सरोज कुमार सिंह, नमिता गुप्ता, पीसी देवघरिया, आरके द्विवेदी, डॉ प्रणिता, केदार सिंह एमके सिंह, रीता कुमारी समेत अन्य शामिल थे।

खबरें और भी हैं...