मामला दर्ज:गोतस्करों ने बोड़ैता में बजरंग दल के तीन युवकों को बनाया बंधक, मारपीट कर छोड़ा

आनंदपुर2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • आनंदपुर थाना में मवेशी तस्करों के खिलाफ बंधक बने सदस्यों ने रिवॉल्वर दिखाकर मारपीट करने का दर्ज कराया मामला, पुलिस कर रही है जांच

आनंदपुर की बिंजू पंचायत अंतर्गत बोड़ैता में गोतस्करों द्वारा बजरंग दल एवं विहिप के 3 सदस्यों को बंधक बनाकर मारपीट करने का एक मामला सामने आया है। घटना रविवार देर शाम 5 बजे की है। विहिप और बजरंग दल के सदस्य सुबोध कुमार सिंह चुटिया रांची, शिव शरण सिंह रायकेरा, बानो थाना, जसवीर सिंह हुरदा बानो थाना एवं राजकुमार साहू कोहीपाट थाना बानो थाना ने आनंदपुर थाना में मवेशी तस्कर बसरुद्दीन मियां, अलाउदीन मियां, नशरुदीन मिंया, संदीप, इम्तियाज, कानू प्रधान, सिदक मियां, एनामुल मिंया, कलावा, अनुवा, निसार अंसारी, साकिर अंसारी, मोफिक, मास्टर, इनुस, नुमा खान के खिलाफ रिवाल्वर दिखाकर मारपीट करने का मामला दर्ज कराया है।

इधर दर्ज मामले के मुताबिक बजरंग दल एवं विहिप के सदस्यों को सूचना मिली थी कि रुंघी से तस्कर अवैध रूप से गो-तस्करी कर रहे हैं। सूचना वाले स्थान पर सभी सदस्य पहुंचे और देखा कि वहां 500 की संख्या में मवेशी हैं। जिसे लेकर वे आनंदपुर थाना को सूचना देने जा रहे थे। इसी क्रम में बोड़ैता के पास पीछे से 40-50 की संख्या में लोग आए और हम लोगों को रोककर लाठी-डंडे से पीटना शुरू कर दिया।

तस्करों ने बंदूक की नोंक पर मारपीट करने के साथ ही तस्करों ने विहिप के तीन सदस्य जसवीर सिंह, शिवसरण सिंह एवं सुबोध कुमार सिंह को जबरदस्ती धक्का देते हुए स्कारपियों में बैठा लिया और तीनों का मोबाइल छीन लिया। इसके बाद गाली-गलौज कर हाथ पैर तोड़ देने की धमकी भी दी। वही तीनों तस्कर एक दूसरे का नाम लेकर विहिप के सदस्यों से मारपीट की। इसके बाद तस्करों ने तीनों को भालुडुंगरी चौक लाकर छोड़ दिया।

मारपीट के बाद दो युवक थे लापता, थाना प्रभारी ने ढूंढा
तस्करों द्वारा विहिप के सदस्यों से मारपीट करने के दौरान धनेश्वर सिंह एवं योगेंद्र सिंह नामक विहिप के सदस्य जान बचाकर जंगल की ओर भाग गए। जान की डर से जंगल की ओर भाग गए थे। करीब 2 घंटे के बाद थाना प्रभारी ललित रंजन भगत के प्रयासों से दोनों को जंगल से वापस लाया गया।

विहिप व बजरंग सदस्यों ने 16 लोगों के खिलाफ मारपीट का मामला दर्ज कराया है। मामले को लेकर अनुसंधान जारी है। -ललित रंजन भगत, थाना प्रभारी आनंदपुर।

यह भी जानें : ओडिशा के सौदागढ़ा से होती हैै मवेशियों की तस्करी
सूत्रों की मानें तो तस्कर ओडिशा के सौदागढ़ा, खुटखुर बहार नुवागांव से मवेशियों की खरीदारी कर राखासाई सोनुआ ले जाकर ऊंचे दामों पर बेच डालते हैं। तस्कर अक्सर सप्ताह के मंगलवार और शनिवार को पशु की तस्करी करते हैं। मवेशियों को ले जाने के लिए तस्कर रूट चार्ट के अनुसार नुवागांव से रुंघी होते हुए बौड़ैता से चारबंदिया तथा चारबंदिया से तेतुलडीह गांव के रास्ते होकर बागचट्टा से कोयल नदी तट पार कर गोइलकेरा मुख्य सड़क रूट से राखासाई वाला मार्ग अपनाते हैं। वहीं दूसरा रूट रायकेरा होते हुए बंबई होटल के समीप कोयल नदी से पार कर ढीपा मार्ग से गोइलकेरा होते हुए सोनुआ है। बड़े पैमाने पर पशुओं की खरीद-बिक्री बंगाल में की जाती है।

खबरें और भी हैं...