पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

बालू का उठाव:गोइलकेरा के पोकाम कोयल नदी घाट से दिन दहाड़े हो रहा बालू का उठाव, अवैध रूप से किया जा रहा स्टॉक

आनंदपुर2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • सरकार को प्रतिमाह पांच से ‌10 लाख के राजस्व का नुकसान अधिकारी हुए मौन

एक ओर कोरोना काल में लॉकडाउन लगा हुआ है, जिसके कारण लोगों का घरों से निकलना बंद हो गया है। इस काल में भी बालू माफिया पूरी तरह से चांदी कटाने में लगे हुए हैं। गोइलकेरा के पोकाम, भरडीहा व रायम में अवैध बालू का उत्खनन और कारोबार चरम सीमा पर है। बालू माफिया द्वारा दिन के उजाले में ही पोकाम कोयल नदी घाट से अवैध बालू का उत्खन्नन किया जा रहा है। इसके साथ ही निडर होकर बालू माफिया ढुलाई कर गोइलकेरा, सोनुआ, चक्रधरपुर समेत अन्य स्थानों में इसका कारोबार कर रहे हैं।

जानकारी के अनुसार, अन्य अवैध बालू घाटों पर खनन विभाग के अधिकारियों द्वारा छापेमारी के बाद उत्खनन और कारोबार बंद हो जाता है, मगर इस क्षेत्र में छापेमारी के दूसरे दिन के बाद से ही माफिया निडर होकर अवैध बालू का कारोबार करना शुरू कर देते हैं। रोजाना पोकाम बालू घाट में सुबह छह बजे से दोपहर एक बजे और तीन बजे से देर शाम तक उत्खनन जारी रहता है। वहीं, दर्जन भर हाइवा, डंफर और ट्रैक्टर से बालू की ढुलाई कर दलकी, गुलुरुंंवा, कायदा, कुनैना, डेरवां के रास्ते शहर के विभिन्न स्थानों में व्यापार कर रहे हंै। बालू का कारोबार बड़ी तेजी से फल-फूल रहा है। इसके बावजूद खनन विभाग की ओर से अवैध बालू खनन के विरूद्ध कोई कार्रवाई नहीं की जा रही है।

खबरें और भी हैं...