दिवाली मनाने गए घर के चिराग बुझे:परिवार संग दिवाली मनाने के 5 घंटे बाद कमांडो सहित ममेरे भाई की सड़क हादसे में मौत

चाईबासाएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
सड़क हादसे में मृत कमांडो अपने परिवार के साथ।  फाइल फोटो - Dainik Bhaskar
सड़क हादसे में मृत कमांडो अपने परिवार के साथ। फाइल फोटो

मुफस्सिल थाना क्षेत्र के चाईबासा-जमशेदपुर मुख्य मार्ग पर खप्पर साई स्थित रेलवे फ्लाईओवर के पास अनियंत्रित तेज रफ्तार अज्ञात भारी ट्रक के चपेट में आने से बाइक सवार पूर्व उप प्रधानमंत्री लाल कृष्ण आडवाणी के सुरक्षा में तैनात एनएसजी कमांडो 31 वर्षीय पोरेश बुड़िउली और उसके मामा का लड़का डोरंडा काॅलेज का छात्र 21 वर्षीय राजा तियू की घटनास्थल पर दर्दनाक मौत हो गई

। अज्ञात भारी वाहन का पहिया चढ़ने के कारण दोनों का सिर, हाथ, पैर व पंजरे सही सलामत नहीं रहे। घटना दिवाली के दिन रात्रि 11:00 बजे के करीब की बताई जा रही है। सड़क हादसे में मृतक डिलियामार्चा के रहने वाले थे। जबकि कमांडो का गांव झींकपानी सोनापोसी है। डिलियामार्चा में भी उनका घर है। जानकारी के अनुसार, मृतक कमांडो की पहली पत्नी से एक बच्चा है। पहली पत्नी ने दूसरी शादी कर ली है।

दूसरी पत्नी शुरू से दो बेटियां हैं। पहली 7 व दूसरी 4 वर्ष की है। पत्नी शुरू बुड़िउली झारखंड स्टेट लाइवलीहुड प्रमोशन सोसाइटी में प्रोग्राम ऑफिसर के पद पर कार्यरत हैं। परिजनों ने कहा-दिवाली मनाने के पांच घंटे बाद ही साथ छोड़ दिया।

पत्नी ने कहा-रात 10:30 बजे फोन पर पोरेश ने बताया कि हम दोनों जल्द आ रहे हैं, इसके बाद फिर संपर्क नहीं हुआ

दूसरे दिन मिली जानकारी :एनएसजी कमांडो पोरेश बुड़िउली की पत्नी शुरू बुड़िउली ने बताया कि दिवाली के दिन पति दिल्ली से प्लेन से रांची आए, जहां से बस से शाम को 6 बजे चाईबासा पहुंचे। बस स्टैंड से उसके बड़े भाड़े ने रिसीव कर डिलियामार्चा स्थित घर ले अाए। घर पहुंचने के बाद उन्होंने कपड़े बदले और दीपावली का पूजा पाठ किया। फिर दोनों बेटियों के साथ दीप जलाए व आतिशबाजी की।

उन्होंने अपने दोस्तों को भेजने के लिए मोबाइल से वीडियो भी सूट किया। करीब रात्रि के 9:00 बजे मुझे कहा- मामा का लड़का राजा तियू के साथ बाइक से पताहातु में रहने वाले अपने दोस्त से मिलने जा रहे हैं..। रात्रि के करीब 10:30 बजे मैंने फोन पर अपने संपर्क किया तो पोरेश ने बताया कि हम दोनों जल्द आ रहे हैं। इसके बाद फिर मोबाइल में संपर्क नहीं हुआ। दूसरे दिन शुक्रवार की सुबह घटना की जानकारी मिली।

तीन घंटे बाद पुलिस पहुंची घटनास्थल, पैतृक गांव में संस्कार

घटना की सूचना मिलने के बाद रात्रि को करीब 1:00 से 2:00 बजे रात को पुलिस घटनास्थल पर पहुंची और दोनों लाशों को अपने कब्जे में करने के बाद सदर अस्पताल ले गई। जहां पर डाक्टर ने जांच के उपरांत दोनों को मृत घोषित कर दिया। दोनों शव को पुलिस रात भर अस्पताल में सुरक्षित रखवा दिया। दोनों मृतक के परिजनों को दूसरे दिन शुक्रवार की सुबह घटना की जानकारी मिली तो परिजन सदर अस्पताल पहुंचे।

दोनों लाशों की पहचान करने के बाद कमांडो पोरेश बुड़िउली की पत्नी शुरु बुड़िउली सहित परिजनों का रो-रोकर हाल बुरा हो गया। वहीं घटना की सूचना पर पूरे गांव में मातम छाई है। शुक्रवार को पुलिस ने दोनों लाशों को सदर अस्पताल में पोस्टमार्टम कराने के बाद परिजनों को सौंप दिया। दोनों के शव को अपने पैतृक गांव डिलियामार्चा में अंतिम संस्कार किया गया।

खबरें और भी हैं...