लापरवाही:मोचीसाई-नरसंडा सड़क निर्माण में हो रही लीपापोती

चाईबासा6 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • ढेला-पत्थर बन चुकी सीमेंट से हो रही सड़क की ढलाई, योजना संबंधित बोर्ड भी नहीं लगाया

आखिरकार शिलान्यास के करीब डेढ़ साल बाद प्रधानमंत्री ग्रामीण सड़क योजना के तहत सदर प्रखंड अंतर्गत मोचीसाई से नरसंडा तक सड़क निर्माण कार्य शुरू हो गया है। इधर, संवेदक ने अपने निर्माण में जहां गुणवत्तापूर्ण कार्य को नजरअंदाज कर रखा है, वहीं विभाग द्वारा सड़क निर्माण कार्य में जिन नियम व शर्तों को रखा गया था उन सभी को ताख पर रखते हुए संवेदक ने कई प्रश्न खड़े कर दिए हैं। साथ ही योजना से संबंधित एक भी बोर्ड कार्यस्थल पर नहीं लगाया गया है, जिससे स्पष्ट नहीं हो पा रहा है कि किस मद की यह योजना है।

सड़क की कितनी लागत व लंबाई आदि की जानकारी भी नहीं मिल पा रही है। देखने से तो काफी बड़ी योजना प्रतीत होती है। संवेदक द्वारा करीब एक किमी सड़क पर कालीकरण किया गया, वहीं लगभग एक किमी सड़क पर ढलाई कर निर्माण किया जा रहा है। आधा काम ढलाई और आधे काम में कालीकरण करना समझ से परे है। ढलाई करने में भी काफी घटिया किस्म की सीमेंट उपयोग में लाई जा रहा है। साथ ही सड़क निमार्ण में व्यापक मात्रा में मेटेरियल की कटौती हो रही है। सीमेंट की क्वालिटी भी घटिया है। सीमेंट भी पत्थरों के ढेलो में तब्दील हो चुका है।

खबरें और भी हैं...