जरूरी दवाइयां:सारंडा में स्वास्थ्य विभाग को 50% मिले मलेरिया ग्रसित

चाईबासाएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक

सारंडा के छोटानागरा पंचायत अंतर्गत हेंदेबुरु, जोजोपी एवं राकाडबरा निवासी तीन मासूम बच्चों की संदिग्ध मलेरिया आदि बीमारी से मौत की खबर के बाद स्वास्थ्य विभाग की टीम मनोहरपुर से शनिवार को हेंदेबुरु पहुंची। डॉ अनिल कुमार एवं एमपीडब्लू ओम प्रकाश पांडेय के नेतृत्व में हेंदेबुरु गांव में चिकित्सा शिविर लगाकर गांव के बीमार ग्रामीणों का इलाज कर जरूरी दवाइयां दी गईं।

शिविर में ग्रामीणों का इलाज करने वाले चिकित्सक डॉ अनिल कुमार ने कहा-गांव के लगभग पचास से अधिक बीमार बच्चों व ग्रामीणों की रक्त जांच की गई, जिसमें से लगभग 50 फीसदी बच्चे व ग्रामीण मलेरिया से ग्रसित पाए गए। इसके अलावे सामान्य बुखार, सर्दी, खांसी, चर्म रोग से भी ग्रसित लोग व बच्चे कुपोषित मिले।

खबरें और भी हैं...