पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

गड़बड़झाला:हेल्थ वेलनेस सेंटर का मरम्मत कार्य दिलाने काे बिचौलिया सक्रिय, 1.5 लाख देने पर मिल रहा काम

चाईबासा7 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
गोइलकेरा के दलाईकेला में हेल्थ वेलनेस सेंटर।
  • स्वास्थ्य केंद्र के नाम पर करोड़ों की लूट की तैयारी, सीएस काे पता लेकिन सबूत नहीं
  • जिला स्वास्थ्य विभाग का एक अनुबंधित अधिकारी दे रहा कारनामा को अंजाम

(मनीष सिंह) कोरोना काल में जहां एक ओर स्वास्थ्य विभाग समेत पूरा जिला प्रशासन कोरोना वायरस से जंग लड़ रहा है, वहीं दूसरी ओर स्वास्थ्य विभाग के कुछ शीर्ष क्रम के लोग पश्चिमी सिंहभूम जिला में हेल्थ वेलनेस सेंटर को चुस्त-दुरूस्त करने के नाम पर पैसों का गड़बड़झाला कर रहे हैं। खेल ऐसा कि किसी को कानोंकान खबर तक नहीं लगने दे रहे हैं। इतना ही नहीं सभी नियमों को ताक पर रखकर और प्रखंड के स्वास्थ्य कर्मियों पर दबाव डालकर यह काम कराया जा रहा है।

दबाव में नहीं आने वालों को सजा के तौर पर दूसरी जगह पदस्थापित कर दिया जा रहा है। लाखों की लूट की पुख्ता तैयारी हो चुकी है। यही स्थिति रही तो हेल्थ वेलनेस सेंटर के लिए जिले में आई करोड़ों की राशि का बंदरबांट हो जाएगा। खबर यह भी है कि हेल्थ वेलनेस सेंटर मरम्मति का काम दिलाने के लिए शहर में बिचौलिया घूम रहा है। वह इस काम को दिलाने के लिए डेढ़ लाख रुपये की डिमांड भी कर रहा है। जो उसकी डिमांड पूरी कर रहा है, वही इस काम को कर रहा है।

स्वास्थ्य, चिकित्सा, शिक्षा एवं परिवार कल्याण विभाग के प्रधान सचिव डॉ नितिन कुलकर्णी ने 12 अक्टूबर को पत्र लिखकर कहा है कि मार्च 2021 तक हर हाल में राज्यभर में 2224 हेल्थ वेलनेस सेंटर खोला जाना है। इसके विरूद्व अब तक राज्यभर में 1596 हेल्थ वेलनेस सेंटर ही चिह्नित किया जा सका है।

उन्होंने यह भी कहा है कि राज्य के हर जिले में हेल्थ वेलनेस सेंटर खोलने की रफ्तार काफी धीमी है, जिसमें तेजी लाया जाना चाहिए। उन्होंने जिले के हेल्थ वेलनेस सेंटर की मरम्मती और जीर्णोद्धार का काम नहीं हो रहा है। उन्होंने इसे जल्द से जल्द पूरा करने का निर्देश जिला के उपायुक्त को दिया है।

पैसा भेजा, फिर 14 दिन में वापस 10वें दिन मैनेजर का तबादला

गोइलकेरा में कुल 7 हेल्थ वेलनेस सेंटर हैं। इसके लिए सिविल सर्जन ने विगत 7 अगस्त को अपने ज्ञापांक 242 -डीपीएमयू के माध्यम से गोइलकेरा के प्रभारी चिकित्सा पदाधिकारी को पत्र भेजकर कुल 35 लाख रुपये भेजा व मार्गदर्शिका के अनुसार खर्च करने का निर्देश देते हुए प्रखंड के सभी 7 हेल्थ वेलनेस सेंटर को दुरूस्त करने का निर्देश दिया। लेकिन इस आदेश के ठीक 14 दिन बाद 21 अगस्त को अपने ज्ञापांक 274-डीपीएमयू के माध्यम से पत्र जारी कर भेजी गयी राशि रद्द कर दिया। 10 दिन बाद गोइलकेरा के सीएचसी के लेखा प्रबंधक को वहां से हटा दिया गया।

जिनका नियोक्ता राज्य मुख्यालय सीएस नहीं कर सकते तबादला

2018 में झारखंड ग्रामीण स्वास्थ्य मिशन समिति के अभियान निदेशक ने ज्ञापांक 1016 एमडी, दिनांक 5.10.2018 को एक पत्र जारी कर किसी भी डीपीएमयू व बीपीएमयू कर्मियों, जिनका नियोक्ता राज्य मुख्यालय है, उनका स्थानांतरण अथवा अन्यत्र प्रतिनियुक्ति सिविल सर्जनों द्वारा नहीं करने का निर्देश जारी किया था। उक्त पत्र में यह भी लिखा था कि ऐसा करना नियम विरूद्व है। इनका स्थानांतरण अथवा प्रतिनियुक्ति सिर्फ राज्य मुख्यालय से ही हो सकता है, जिला स्तर पर नहीं। ऐसे में सिविल सर्जन द्वारा प्रतिनियुक्ति किया जाना गलत है।

यह है मामला

जिले में हेल्थ सब सेंटर को उत्क्रमित करते हुए 171 हेल्थ वेलनेस सेंटर बनाया जाना है। इसके एवज में अब तक जिले में कुल 157 हेल्थ वेलनेस सेंटर का प्रपोजल तैयार किया गया है, जबकि सरकारी आंकड़ों के अनुसार, 75 हेल्थ सब सेंटर प्रारंभ हो चुका है। विभिन्न प्रखंडों में स्थित इन्हीं वेलनेस सेंटर के लिए वित्तीय वर्ष 2020-21 में पांच-पांच लाख रुपये मिले हैं। इस राशि से उक्त सेंटर की मरम्मती और रंग-रोगन आदि का काम कराना है।

अब खेल यहीं से शुरू हुआ। जानकारी के अनुसार, लगभग डेढ़ करोड़ से भी अधिक की राशि जिले में आयी है। अब इस राशि को उसी प्रखंडों में जिला से भेजा जा रहा है, जो प्रखंड जिले के एक अधिकारी की बात मान रहे हैं और अंदर ही अंदर गुपचुप तरीके से चहेतों को काम देने की प्रक्रिया शुरू कर दी गयी है। कई प्रखंडों में ठेकेदार काम करना भी शुरू कर चुके हैं।

मेरे पीछे कोई मेरा नाम बेचकर खा रहा तो मुझे पता नहीं - सिविल सर्जन

सीएस डाॅ ओ पी गुप्ता ने कहा कि मेरे पीछे कोई मेरा नाम बेच रहा तो मुझे पता नहीं। पता चला तो सख्त कार्रवाई करूंगा। मैं सिर्फ चिकित्सा प्रभारियों को पैसा दे रहा हूं। उन्होंने इशारों में यह भी बताया कि उनके यहां एक ही व्यक्ति है, जो इस तरह का काम करता है। लेकिन सबूत मिला तो सख्त कार्रवाई करूंगा। गोइलकेरा में पैसा गया, किस कारण से वापस आया, इसका पता लगाऊंंगा।

प्रभारी बोले- आवंटन ही रद्द कर दिया

गोेइलकेरा के सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र के प्रभारी चिकित्सा पदाधिकारी डाॅ नरेश बास्के ने बताया कि उनके गोइलकेरा प्रखंड स्थित कुल 7 हेल्थ वेलनेस सेंटर की मरम्मती के लिए प्रति सेंटर 5-5 लाख रुपये आवंटित किया गया था। इस संबंध में जिला से उन्हें पत्र प्राप्त हुआ था लेकिन कुछ दिन बाद आवंटन संबंधित पत्र को रद्द कर दिया गया।

आज का राशिफल

मेष
Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
मेष|Aries

पॉजिटिव- आज ग्रह स्थितियां बेहतरीन बनी हुई है। मानसिक शांति रहेगी। आप अपने आत्मविश्वास और मनोबल के सहारे किसी विशेष लक्ष्य को प्राप्त करने में समर्थ रहेंगे। किसी प्रभावशाली व्यक्ति से मुलाकात भी आपकी ...

और पढ़ें