पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

न्यायिक हिरासत:अब दिनेश गोप की है बारी, 4 बार हो चुकी मुठभेड़ : एसपी

चाईबासा2 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
अजय पूर्ति और उसके दस्ते के बारे में खुलासा करते एसपी व अन्य। - Dainik Bhaskar
अजय पूर्ति और उसके दस्ते के बारे में खुलासा करते एसपी व अन्य।
  • पुलिस ने अजय पूर्ति ओर आठ सदस्यों की गिरफ्तारी का किया खुलासा

पश्चिमी सिंहभूम जिले के पोड़ाहाट जंगल में हत्या, लेवी वसूलना, पुलिस पर हमला करना और गांव के लोगों को बिना वजह डरा धमका कर जिले के बंदगांव, गुदड़ी, सोनुआ आदि थाना क्षेत्र में एक क्षत्र राज चलाने वाला 25 लाख का इनामी पीएलएफआई उग्रवादी दिनेश गोप के दस्ताओं की कमर चाईबासा पुलिस तोड़ दी है। आखिर कार उग्रवादी दिनेश गोप का तीन सिपासलार जिदन गुड़िया, शनिचर सुरीन को पहले ही मार गिराया।

इसके बाद चाईबासा पुलिस शनिचर सुरीन के एक इशारे पर हत्या और लेवी वसूलने वाला अजय पूर्ती को चाईबासा पुलिस गिरफ्तार करने में सफलता हासिल कर ली, और अजय पूर्ति के साथ आठ सदस्यों को गिरफ्तार कर बुधवार को जेल भेज दिया गया। हालांकि अजय पूर्ति दस्ता के दो सदस्य की गिरफ्तारी अभी बाकी है। वहीं चाईबासा पुलिस का अगला निशाना 25 लाख का इनामी उग्रवादी दिनेश गोप है।

चाईबासा पुलिस अधीक्षक ने स्पष्ट कहा-अबकी बारी दिनेश गोप की पारी। जानकारी के अनुसार, बुधवार को प्रेस वार्ता करते हुए पुलिस कप्तान अजय लिंडा ने बताया-मंगलवार को गुप्त सूचना प्राप्त हुई थी कि प्रतिबंधित संगठन पीएलएफआई का एरिया कमांडर अजय पूर्ति अपने दस सदस्यों वाली दस्ता के साथ बंदगाव थाना क्षेत्र के ग्राम ईटी - विरदा के जंगल पहाड़ी क्षेत्रों में भ्रमणशील हंै।

इसकी सूचना के आधार पर आवश्यक कार्रवाई हेतू सीआरपीएफ 60 बटालियन के समादेष्टा आनन्द राई के मॉनिटरिंग में सहायक पुलिस अधीक्षक सह अनुमंडल पुलिस पदाधिकारी चक्रधरपुर नाथू सिंह मीना एवं सीआरपीएफ 60 बटालियन के टुआई सी विकास सिंह के नेतृत्व में चाईबासा पुलिस एवं सीआरपी एफ 60 बटालियन का संयुक्त अभियान दल का गठन किया गया। अभियान के दौरान, अभियान दल के द्वारा पूर्व से कई कांडों में याछित प्रतिबंधित संगठन पीएलएफआई एरिया के कमाण्डर अजय पूर्ति उर्फ मनोज पूर्ति उर्फ बिरसा हेस्सा पूर्ति, उर्फ बुढा उर्फ रूठा एवं उसके सात अन्य सहयोगियों, अकिला सानही पुर्ली उर्फ डिबोडी, डुपन उर्फ तोपान कन्झुलना, हेरमान सान्जी पूर्ति सर्फ सुखराम सान्डी पूर्ति , दोसरो मुण्डा, पौलुस सान्डी पुर्ती, गाल सान्डी पुर्ती, प्रभु सहाय सिराम को गिरफ्तार किया गया। गिरफ्तार अभियुक्तों के पास से हथियार, जिन्दा कारतूस, वॉकी टॉकी, मोबाइल फोन, पिटु बैग, मोटरसाइकिल एवं जरूरत के अन्य समान बरामद किया गया।

यह भी बताया गया कि प्रतिबंधित पी एलएफआई संगठन का कमाण्डर अजय पूर्ति उर्फ मनोज पूर्ति उर्फ बिरसा हेस्सा पूर्ति, उर्फ बुढा उर्फ रुला के ऊपर झारखण्ड सरकार के द्वारा 02 (दो) लाख रुपए का इनाम घोषित है। जिसके विरूद्ध सुरक्षा बलों द्वारा लगातार अभियान चलाया जा रहा था। प्रतिबंधित पीएलएएफ आई संगठन के एरिया कमाण्डर अजय पूर्ति के विरूद्ध हत्या, हत्या का प्रयास, रंगदारी, आगजनी, पुलिस पार्टी पर हमला एवं अन्य नक्सली घटनाओं से संबंधित 50 काण्ड दर्ज हैं। इसमें चाईबासा जिला में 43 काण्ड एवं खूंटी जिला में 07 काण्ड दर्ज है। यह झारखण्ड पुलिस के लिए एक बहुत बड़ी उपलब्धि है। इस सबंध में दर्ज गिरफ्तार अभियुक्तों को न्यायिक हिरासत में जेल भेज दिया गया है।

बताते चलें दिनेश के साथ खण्डवा, बानु, जतरमा और बड़ाकेशल में हुए मुठभेड़ के बाद सहमा हुआ है। लेकिन चाईबासा पुलिस अब दिनेश गोप को घेरने की तैयारी कर ली है और उनका अगला निशाना दिनेश गोप है। दिनेश गोप के साथ 15 सदस्य दस्ता में शामिल है। चाईबासा पुलिस को लगातार सफलता हाथ लग रही है।

खबरें और भी हैं...