टाटा स्टील:गुआ रेलवे स्टेशन से साइडिंग तक एक किमी सड़क कच्ची, ट्रक एसो. में आक्रोश

चाईबासाएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • दिवाली बाद माइनिंग एरिया ट्रक ओनर एसोसिएशन ने फिर अनिश्चितकालीन हड़ताल की दी चेतावनी

गुआ रेलवे स्टेशन से गुआ रेलवे साइडिंग एक किलोमीटर, बड़ाजामदा रेलवे साइडिंग की 500 मीटर कच्ची सड़क वर्षों से क्षतिग्रस्त होकर काफी जर्जर अवस्था में है। जिसके कारण माइनिंग एरिया ट्रक ओनर एसोसिएशन के तहत चलने वाले सभी मालवाहक गाड़ियों के मालिकों को काफी क्षति का नुकसान उठाना पड़ रहा है।

इसके साथ ही गाड़ियों के दुर्घटना होने से इसे बचाया नहीं जा सकता। इसी को लेकर माइनिंग एरिया ट्रक ओनर एसोसिएशन के अध्यक्ष अरविंद कुमार चौरसिया एवं गाड़ी मालिक में काफी आक्रोश है।

बता दें इस जर्जर सड़क की मरम्मत एवं भाड़ा वृद्धि को लेकर कई बार एसोसिएशन के तत्वाधान में गाड़ी मालिकों ने लंबे समय तक अनिश्चितकालीन हड़ताल किया था और इसे लेकर टाटा स्टील लोंग प्रोडक्ट्स कंपनी ने लिखित आश्वासन पुलिस प्रशासन की उपस्थिति में जर्जर सड़क की मरम्मत एवं भाड़े वृद्धि मैं बढ़ोतरी को लेकर दिया गया था।

परंतु 2 माह बीत जाने के बावजूद अभी तक जर्जर सड़कों की मरम्मत टाटा स्टील द्वारा नहीं किए जाने को लेकर माइनिंग एरिया ट्रक ओनर एसोसिएशन के अध्यक्ष अरविंद कुमार चौरसिया एवं गाड़ी मालिकों ने टाटा स्टील कंपनी को लिखित मांगपत्र सौंपकर चेतावनी दी है कि अगर टाटा स्टील कंपनी एक सप्ताह के अंदर रेलवे साइडिंग की जर्जर सड़कों की मरम्मत का कार्य शुरू नहीं करता है तो दीपावली के बाद से फिर से एक बार अनिश्चितकालीन चक्का जाम किया जाएगा।

चार घंटे तक खराब रास्ते पर वार्ता की लेकिन पहल नहीं: अध्यक्ष

इस दौरान एसोसिएशन के अध्यक्ष अरविंद कुमार चौरसिया ने कहा कि टाटा स्टील कंपनी के मुख्य महाप्रबंधक अतुल भटनागर, किरीबुरू पुलिस अवर निरीक्षक वीरेंद्र एक्का, गुवा थाना प्रभारी अनिल कुमार यादव के साथ चार घंटा वार्ता के बाद सड़क की मरम्मत ई को लेकर लिखित आश्वासन दिया गया उसके बावजूद टाटा स्टील कंपनी के द्वारा सड़कों की मरम्मत नहीं किए जाने पर कंपनी के प्रति गाड़ी मालिकों का विश्वास उठता जा रहा है। अब माइनिंग एरिया ट्रक ओनर एसोसिएशन एवं गाड़ी मालिक अनिश्चितकालीन चक्का जाम के लिए प्रबंधन से लिखित आश्वासन पर विश्वास ना करते हुए उनकी बातों को नहीं माना जाएगा आंदोलन को तभी समाप्त किया जाएगा जब तक कि जर्जर सड़कों की मरम्मत पूरी तरह नहीं की जाती है।

खबरें और भी हैं...