पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

धरना:आउटसोर्सिंग स्वास्थ्य कर्मचारियाें की छंटनी के विरोध में दिया धरना

चाईबासा8 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

विभिन्न स्वास्थ्य केंद्रों से हटाए गए आउटसोर्सिंग कर्मियाें ने बुधवार से सदर अस्पताल परिसर में अनिश्चितकालीन धरने पर बैठ गए। धरना के माध्यम से ये लाेग काम पर पुन: वापस लेने की मांग कर रहे हैं। इन लाेगाें का कहना है कि जिल के विभिन्न स्वास्थ्य केंद्रों में 576 आउटसोर्सिंग कर्मचारी स्वीपर, वार्ड बाॅय, लैब टेक्नीशियन, कम्प्यूटर ऑपरेटर, ड्रेसर, पलंबर, बिजली मिस्त्री, एंबुलेंस ड्राइवर, फार्मासिस्ट आदि के पदाें पर कार्यरत थे। लेकिन इन कर्मचारियों की छंटनी कर दी जा रही है। ऐसे कई कर्मचारी हैं जाे काेविड़-19 काेराेना महामारी में बिना बीमा व बिना वेतन लिए ही सेवा में लगे रहे हैं। लेकिन अब छंटनी कर दिए जाने के कारण सड़क पर आ गए हैं।

माैके पर झारखंड राज्य अराजपत्रित महासंघ के राज्य उपाध्यक्ष सदानंद हाेता, आउटसोर्सिंग कर्मचारी संघ के जिलाध्यक्ष अरविंद लाेहार, कृष्णा मुखी, जतरू कारवा, विमलेश कुमार, साेमा सावैयां, पिलु करवा, नजमुस साकीब, सुशेन महताे, शिवा बानरा, फूलकुमारी बेहरा, शुशांक प्रधान, घनश्याम आिद थे।

खबरें और भी हैं...