पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

प्रशासन का सख्त पहरा:जैंतगढ़ में घरों में अदा की नमाज, नहीं हुई पार्टी

जैंतगढ7 दिन पहले
  • कॉपी लिंक

मुसलमानों का दूसरा सबसे बड़ा पर्व बकरीद सादगी के साथ मनाई गई। इस अवसर पर न कहीं गले मिले गए, न लोगों ने मुसाफा किया न दावत का एहतमाम हुआ न ही घर-घर जाकर बधाई देने का काम हो सका। बकरीद मिलन पार्टी का आयोजन भी नहीं हुआ।

समुदाय के लोगों ने घरों में ही ईदुल अजहा की नमाज़ अदा की। जामा मस्जिद के इमाम रियाज़ सल्फी ने कहा-बकरीद तो त्याग, कुर्बानी और सब्र का पर्व है। समुदाय के लोगों ने इस पर्व पर सबर किया। अल्लाह काे कुर्बानी देने के बाद सम्पूर्ण विश्व में सुख शांति की कामना की गई। दुनिया की काेरोना वायरस से मुक्त करने की दुआ की गई। इस अवसर पर प्रशासन का सख्त पहरा रहा।

खबरें और भी हैं...