पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

फरियाद:चाईबासा के डीडीसी के एसटी होने पर सवाल, आदिवासी हो समाज महासभा ने जांच के लिए मुख्यमंत्री को लिखा पत्र

चाईबासा20 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
  • मानकी मुंडा संघ ने भी मुख्यमंत्री को पत्र लिख कर जाति प्रमाण पत्र को निरस्त करने की मांग की

एक ओर सरकार ट्रांस्फर पोस्टिंग की झड़ी लगा रखी है। वहीं पश्चिमी सिंहभूम जिले में भू-अर्जन पदाधिकारी एजाज अनवर कई महत्वपूर्ण पद पर पदस्थापित हैं और कई वर्षों से जमे हुए हैं इसी जिले में, दूसरी ओर जिले का उपविकास अयुक्त पर गलत जाति प्रमाणपत्र पर नौकरी में बहाल होने को लेकर कई बार मुख्यमंत्री से लेकर मुख्यसचिव और राज्यपाल के नाम शिकायत लिखी जा चुकी है, लेकिन इन पदाधिकारियों के विरूद्ध कोई कार्रवाई नहीं हो रही है।

जबकि सूचना है कि डीडीसी संदीप बक्सी के जाति प्रमाणपत्र को लेकर न्यायालय भी सरकार से मंतव्य मांग चुकी है। आदिवासी हो समाज महासभा के केंद्रीय कृष्ण चंद बोदरा ने चाईबासा के डीडीसी संदीप बक्सी के अनुसूचित जनजाति होने की जांच कराते हुए उन्हें जारी जाति प्रमाण पत्र को अविलंब रद्द करने की मांग की है। आदिवासी कल्याण आयुक्त सह अध्यक्ष कास्ट स्क्रुटनी कमेटी झारखंड मुख्य सचिव सह सदस्य जाति छानबीन समिति और कार्मिक प्रशासनिक सुधार के प्रधान सचिव को पत्र लिखकर मांग की है। इसमें कहा गया है -फिलहाल संदीप बख्शी के अनुसूचित जनजाति प्रमाण पत्र की वैधता को लेकर उच्च न्यायालय में एक मुकदमा विचाराधीन है। इस विषय में कास्ट स्क्रुटनी ‘कमेटी को जांच कर प्रतिवेदन सौंपना है।

खबरें और भी हैं...