बकाया राशि उपलब्ध:नए विधानसभा भवन में नमाजियों को कमरा आवंटन को लेकर विवाद उचित नहीं

चाईबासा2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

कांग्रेस भवन में रविवार को कांग्रेसियों ने मुख्यमंत्री द्वारा आवंटित नमाजियों को कमरा देने पर भाजपा द्वारा सरकार को कटघरे में खड़ा करने एवं समाज में भ्रम पैदा कर वैमनस्यता फैलाने से बाज आने की बात कही गई। साथ में कहा गया कि भाजपा की सरकार केंद्र में है अतः सजग विपक्ष की भांति केंद्र सरकार से झारखंड का बकाया राशि उपलब्ध कराने में सकारात्मक भूमिका निभाए, ताकि राज्य में विकास हो।

ज्ञातव्य हो कि विधान सभा में नमाज के लिए एक कमरे के आबंटन का मतलब यह कतई नहीं की वह कमरा मस्जिद या इबादत गाह बन जाएगा। बीजेपी की नीति ,जहा वह एक ओर बीजेपी शासित बिहार में यह परंपरा रखे हुए है वही दूसरी ओर झारखंड में ऐसा करने पर हो हल्ला मचा रही है । जबकि झारखंड बनने के बाद तत्कालीन मुख्यमंत्री बाबूलाल मरांडी की सलाह पर तत्कालीन विधान सभा अध्यक्ष इंदर सिंह नामधारी ने एक जगह आबंटित की थी जबकि पुराने भवन में कमरों की काफी कमी थी।

एक ओर बीजेपी इसी तरह की नीतियों का अपने मतलब के अनुसार अनुसरण करती है। भाजपा की मोदी सरकार को देश की जनता से बताना चाहिए कि किन परिस्थितियों में उन्होंने सुरक्षा परिषद की अध्यक्षता करते हुए अन्य तेरह देशों के साथ तालिबान सरकार को अपना समर्थन दिया।

खबरें और भी हैं...