पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

कार्यक्रम:महिलाओं ने निर्जला उपवास रख की पूजा, मां के चरणों में मत्था टेक की सुख-समद्धि की कामना

चाईबासा10 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
  • जिले के विभिन्न क्षेत्रों में श्रद्धालुओं ने कलशयात्रा निकाल की मां मंगला की पूजा, भक्तों की रही भीड़

डांगुवापोसी में पूरे पारंपरिक रूप से शीतला माता की पूजा सम्पन्न हो गई। ज्ञात हो कि डांगुवापोसी में नौकरी करने आए लोगों ने शीतला माता की विधिवत पूजा आरंभ की थी। इस पूजा के प्रारंभ में महिलाओं ने कलशयात्रा निकाली और इस दौरान पूरे रेल क्षेत्र का भ्रमण किया और कलैया स्थित पम्पू तालाब तक की यात्रा की। इस दौरान जनसाधारण से दान भी इकट्ठा किया गया। कई महिलाओं और श्रद्धालुओं ने पूजा के दौरान मन्नत भी मांगी और कई लोगों ने मन्नत पूरी होने पर माता के चरणों में अपना मत्था भी टेका। इस मंदिर से जुड़ी एक ऐसी मान्यता है कि जिन पर माता की कृपा होती है वह चेचक जैसे संक्रामक रोग से दूर रहते हैं। पूजा के बाद शाम तक श्रद्धालु माता के दर्शन के लिए आते रहे। इस दौरान स्थानीय पूजा समिति ने श्रद्धालुओं के बीच खिचड़ी भोग का वितरण किया और उनसे लगातार सामाजिक दूरी का पालन करने और मास्क के नियमित प्रयोग का आग्रह करते रहे।

इधर गुवा के दो जगहों पर गुवासाईं में पान तांती समाज के लोगों ने मां मंगला की पूजा अर्चना की। वहीं गुवा बाजार सेवानगर स्थित हरिजन बस्ती में हरिजन समाज के लोगों ने मां मंगला की पूजा-अर्चना की। इस दौरान कुसुम घाट स्थित कारो नदी के तट पर महिलाओं ने निर्जला उपवास रख अपने माथे पर कलश में जल भरकर नंगे पांव चलकर पूजा स्थान पहुंची। जहां कलश की स्थापना की गई। पूजा के पश्चात मुर्गे एवं बकरे की बलि भी चढ़ाई गई। इस मौके पर काफी संख्या में महिलाएं मौजूद थी। सभी महिलाओं ने अपने घर की सुख शांति की कामना कि आशीष मांगा। इधर सोनुआ के विभिन्न गांवों में मंगलवार को मां मंगला की पूजा हुई। सोनुआ के निश्चिन्तपुर, बनजीरा समेत अन्य कई गांवों में नदी और तालाब घाट से विधिवत पूजा-अर्चना कर सैकड़ों श्रद्धालुओं ने कलशयात्रा निकाली।

खबरें और भी हैं...

    आज का राशिफल

    मेष
    Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
    मेष|Aries

    पॉजिटिव - आपका संतुलित तथा सकारात्मक व्यवहार आपको किसी भी शुभ-अशुभ स्थिति में उचित सामंजस्य बनाकर रखने में मदद करेगा। स्थान परिवर्तन संबंधी योजनाओं को मूर्तरूप देने के लिए समय अनुकूल है। नेगेटिव - इस...

    और पढ़ें