डाॅक्टर ने चाकुलिया के:युवक को मृत घोषित किया, विश्वास नहीं हुआ तो शव लेकर 48 घंटे तक घूमे

चाकुलिया2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

बंगाल के बेलपहाड़ी के कवि राज के पास चाकुलिया थाना क्षेत्र स्थित जमुनाभुला गांव के 16 वर्षीय युवक मनप्रीत राणा को अचानक उल्टी और दस्त होने के बाद उसे जमशेदपुर स्थित एमजीएम अस्पताल लाया गया। बुधवार को इलाज के दौरान मौत हो गई।

डाॅक्टर ने मृत घोषित कर दिया, पर परिजनों को डाक्टरों की बात पर विश्वास नहीं हुआ। इसके बाद परिजनों ने मृतक के शव को जमुनाभुला ले आए। दूसरे दिन गुरुवार की सुबह कवि राज के पास प. बंगाल के बेलपहाड़ी ले गए।

जहां कवि राज ने युवक को मृत घोषित कर दिया। जानकारी के मुताबिक जमुनाभुला निवासी मनप्रीत राणा धालभूमगढ़ स्थित बॉस कॉलोनी में अपनी बडी दादी के साथ रहता था। बीते सोमवार की रात से उसकी तबीयत खराब हो गई और उल्टी के साथ मुंह से खून निकलने लगा व दस्त होने लगी।

जिसके बाद उसनेे जमुनाभुला फोन कर अपनी छोटी दादी को जानकारी दी। सूचना पाकर उसके परिजन धालभूमगढ़ पहुंच गए। बुधवार को अधिक तबीयत बिगड़ने पर परिजन ने धालभूमगढ़ अस्पताल में भर्ती कराया।

वहां चिकित्सक ने बेहतर इलाज के लिए एमजीएम अस्पताल रेफर कर दिया। जहां इलाज के दौरान मनप्रीत को चिकित्सक ने मृत घोषित कर दिया। इस दौरान उसके एक रिश्तेदार ने चिकित्सक को बताया कि मनप्रीत की नाडी चल रही है।

हांलाकि चिकित्सक मानने को तैयार नहीं हुए। जिसके बाद परिजन मनप्रीत को पश्चिम बंगाल के बेलपहाडी कविराज के पास ले गए।

इस दौरान 48 घंटें तक शव को लेकर घूमते रहे। वहां कविराज ने युवक को मृत घोषित कर दिया। इसके बाद परिजन मनप्रीत के शव को घर लेते आए और उसका दाह संस्कार कर दिया। मनप्रीत इस वर्ष मैट्रिक की परीक्षा दी थी। परिजनों का रो रो कर बुरा हाल है।

खबरें और भी हैं...