आत्मदाह का प्रयास:पति की मौत के बाद दो बच्चों को पालना हुआ मुश्किल, महिला सुवर्णरेखा में कूदी; बची

घाटशिलाएक वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
  • घाटशिला के मऊभंडार की घटना, लॉकडाउन में बच्चों का ठीक तरीके से पालन-पोषण करने में हो रही परेशानी के बाद महिला ने उठाया जानलेवा कदम

मऊभंडार में मंगलवार की दोपहर एक महिला ने सुवर्णरेखा पुल से कूदकर आत्महत्या करने का प्रयास किया। नदी में पानी ज्यादा होने से महिला की जान जरूर बच गई, लेकिन वह गंभीर रूप से घायल हो गई। महिला जान्हवी धीवर बेनाशोल धीवर बस्ती की रहने वाली है। घटना की सूचना पाकर मऊभंडार के ओपी प्रभारी उमाकांत तिवारी, पीएसआई कुमार सौरभ, एएसआई अवध बिहारी सिंह दल-बल के साथ घटना स्थल पहुंचे। स्थानीय युवकों ने घायल महिला को नदी से निकाल कर पुल तक पहुंचाया। पुलिस महिला को अपनी गाड़ी से घाटशिला अनुमंडल अस्पताल ले गई।

वहां चिकित्सकों ने प्राथमिक इलाज कर महिला को एमजीएम अस्पताल रेफर कर दिया। घायल जान्हवी ने बताया- उसके दो छोटे-छोटे बच्चे हैं। पति और सास-ससुर की मौत पहले ही हो गई हैं। परिवार में कोई कमाने वाला नहीं हैं। लॉकडाउन में स्थिति और भी खराब है। लंबे समय से परेशान रहने के कारण उसने आत्महत्या करने का प्रयास किया। हालांकि उसकी जान बच गई। इस घटना के बाद काफी संख्या में लोगों की भीड़ सुवर्णरेखा पुल पर जुट गई थी।

खबरें और भी हैं...