पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

पहचान:विभूति भूषण बंदाेपाध्याय काे झामुमाे ने दी श्रद्धांजलि

घाटशिला6 दिन पहले
  • कॉपी लिंक

अमर कथा शिल्पी, महान साहित्यकार, पर्यावरणविद बिभूतिभूषण बंदोपाध्याय की जयंती पर घाटशिला काॅलेज राेड स्थित विभूति संस्कृति संसद में श्रद्धांजलि सभा का आयोजन किया गया। इस अवसर पर उनकी प्रतिमा पर माल्यार्पण कर श्रद्धांजलि अर्पित की गई। झारखंड मुक्ति मोर्चा जिला संगठन सचिव जगदीश भकत ने बताया विभूति बाबू घाटशिला को एक नई पहचान दी, उनकी अमर लेखनी पर आज भी शोध कार्य चल रहा है। 12 सितंबर 1894 को कोलकाता में जन्म लिए थे।

घाटशिला उनकी कर्मभूमि रही, यहीं उन्हाेंने अंतिम सांस ली। अमर रचनाकार महान साहित्यकार को आज संपूर्ण जगत जानता है। इस अवसर पर सुकलाल हांसदा, विकास मजूमदार, मोहम्मद जलील, काला चांद सरकार, नील कमल महतो, सतीश सीट, झंटू महतो, राजू प्रधान सहित कार्यकर्ता उपस्थित थे।

खबरें और भी हैं...