पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

पहल:चेन्नई का विक्षिप्त युवक एक साल बाद मां से मिला

मुसाबनी16 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
  • लॉकडाउन के दौरान भटककर मुसाबनी पहुंचा था नवीन कुमार, टेंपो स्टैंड के सदस्यों ने विक्षिप्त की मदद की

चेन्नई से भटककर मुसाबनी पहुंचे एक विक्षिप्त युवक को स्थानीय लोगों ने उसकी मां सेे मिलाने के बाद वापस किराया देेकर उसके पैतृक गांव भेज दिया। चेन्नई निवासी विक्षिप्त युवक नवीन कुमार लाॅकडाउन के दौरान भटककर मुसाबनी पहुंच गया था। लोगों की मदद से 1 साल बाद उनकी मां और परिवार से उन्हें मिलाया। इस बारे में बताया जाता है कि 1 माह पूर्व मुसाबनी टेंपो स्टैंड में भटकता हुआ एक युवक पहुंचा था। जिसे टेंपो चालकों ने स्टैंड की झोपड़ी में रहने की जगह दे दी थी। उससे बात करने पर वह किसी की भाषा नहीं समझ रहा था। टेंपो चालकों ने उसके खाने की व्यवस्था किया। उसकी हरकतों से लोगों को पता चला कि वह आंशिक रूप से विक्षिप्त भी है। इधर, जब इस बात का पता पास के लोगों को चला तो तमिल भाषी सब्ज़ी दुकान चलाने वाले बाबू को लोगों ने उससे बात करने को कहा तो वह तमिल समझा और उसने अपने बारे में बताया कि चेन्नई के पोनीअम्मन मेड माधावरम का रहने वाला है। वह भटकते- भटकते मुसाबनी पहुंच गया था। बड़ी मुश्किल से उससे परिवार का मोबाइल नंबर मिला।

जिसके बाद लोगों ने नवीन कुमार के परिवार से संपर्क किया तो उनकी माता महालक्ष्मी ने एक वर्ष पूर्व अपने बेटा के गायब होने के बारे में बताया। जिसके बाद लोगों ने उनसे वीडियो कॉल कर उसे दिखाया तो उन्होंने अपने बेटा को पहचान लिया। लोगों ने उन्हें मुसाबनी आने को कहा जिसके बाद उनकी माता महालक्ष्मी, भाई आर गोकुल व पड़ोसी मोहम्मद इलियास मुसाबनी पहुंचे। उन्होंने अपने बेटे को पहचान लिया।

इस बीच एक माह तक तमिल समाज के लोगों ने उसे टेम्पो स्टैंड से ले जाकर साउथ इंडियन क्लब में रहने की व्यवस्था किया। बाजार में कपड़े की दुकान लगाने वाले मोहम्मद अख्तर ने उसे नया कपड़ा दिया। बाबू ने उसे नहला धुला के साफ कपड़ा पहनाया। क्लब में खाने पीने की व्यवस्था की गई। उनकी माता के आने पर ट्रेन का टिकट कटा कर बुधवार को सुबह सोमनाथ, बाबू, कमलनाथन ने उसे परिवार के साथ जमशेदपुर स्टेशन ले जाकर ट्रेन में बैठाया।

विक्षिप्त नवीन कुमार को उसकी माता और परिवार से मिलाने के इस पुनीत कार्य में टेंपो चालक मोहम्मद जाकिर, सलीम, कालू, शंकर बाबू, अजीत, मोबीन, मंसूर, सदानंद बाबू, अशोक मास्टर, कमलनाथन, सोमनाथज़ शंकर, सत्यराज, राजनज़ एडवीन, रवि नायडू, गणेश नायर, जॉनी सर, विमल सेनापति का सहयोग रहा।

खबरें और भी हैं...

    आज का राशिफल

    मेष
    Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
    मेष|Aries

    पॉजिटिव- आज आर्थिक योजनाओं को फलीभूत करने का उचित समय है। पूरे आत्मविश्वास के साथ अपनी क्षमता अनुसार काम करें। भूमि संबंधी खरीद-फरोख्त का काम संपन्न हो सकता है। विद्यार्थियों की करियर संबंधी किसी समस्...

    और पढ़ें