पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

विरोध:यूसील व मजदूर यूनियन के साथ वार्ता में 10 तक मजदूरों काे वेतन देने पर सहमति

जादूगोड़ा2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • सुबह सात बजे से मांगों को लेकर मजदूरों ने किया काम ठप, यूसील प्रबंधन के साथ वार्ता में वेतन भुगतान के आश्वासन पर हड़ताल समाप्त करने की हुई घाेषणा

गुरुवार काे यूसील नरवा पहाड़ के ठेका मजदूरों ने अपनी मांगों काे लेकर विरोध जताया। इसमें झारखंड ठेका मजदूर यूनियन एवं केंद्रीय संयुक्त विस्थापित समिति ने सुबह 7 बजे से ही यूसील के नरवा माइंस के मुख्य द्वार काे बंद कर हड़ताल कर दिया। मजदूराें के हड़ताल से अयस्क की ढुलाई पूरी तरह से ठप हाे गया।

इस दाैरान करीब 350 ठेका मजदूर हड़ताल में शामिल थे। हड़ताल के कारण यूसील के सभी विभागाें का कार्य लगभग ठप हो गया, केवल आपातकालीन सेवाएं ही चालू रहने दी गईं। वहीं, हड़ताल की सूचना से यूसील प्रबंधन में हड़कंप मच गया।

ठेका मजदूरों ने हड़ताल समय से वेतन भुगतान, यूसील के ठेकेदार माही कंस्ट्रक्शन द्वारा मजदूरों को 2 महीने से वेतन नहीं देना, आशिता कंस्ट्रक्शन द्वारा बोनस का भुगतान नहीं करने और मजदूरों को सही समय में वेतन नहीं देना साथ ही कई मांगों काे लेकर किया था। मजूदराें का कहना था कि यूसील प्रबंधन के साथ पहले भी मजदूर यूनियनाें की कई बार वार्ता हुई है, लेकिन ठेकेदारों द्वारा उन वार्ता में हुए समझाैते का किसी प्रकार पालन नहीं किया जाता है। जिसके कारण मजदूरों को हड़ताल पर जाना पड़ा।

क्या कहते है यूनियन अध्यक्ष: यूनियन के अध्यक्ष सुधीर सोरेन ने बताया-मजदूरों का शोषण नहीं होने दिया जाएगा। वहीं यूसील प्रबंधन को ठेकेदार को बार-बार चेतावनी देने के बाद भी ठेकेदार द्वारा मजदूरों का वेतन सही समय में नहीं देने की बात कही गई। इसके कारण मजदूरों ने मकर सक्रांति को देखते हुए हड़ताल करने का निर्णय लिया। यूसील प्रबंधन द्वारा अब 10 तारीख तक सभी काे वेतन दिए जाने का निर्णय लेने के बाद हड़ताल को समाप्त कर दिया गया। वेतन समय पर नहीं मिलने से मजदूरों को परेशानी हो रही है।

दो घंटे तक चली वार्ता में प्रबंधन ने मजदूरों की मांगों पर किया विचार

हड़ताल की सूचना के बाद यूसील प्रबंधन ने संध्या 3:00 बजे मजदूरों के यूनियन के साथ वार्ता के लिए यूसील के नरवा पहाड़ के पर्सनल विभाग में बुलाया, जहां पर वार्ता हुई। वार्ता के समय ठेका कंपनी माही कंस्ट्रक्शन द्वारा आनन फानन में सभी मजदूरों के अकाउंट में वेतन भेज दिया गया।

आशिता कंस्ट्रक्शन के बोनस के मामले में भी यूसील प्रबंधन ने बताया कि यह पैसा हमारे अकाउंट में है और इसका भुगतान प्रबंधन द्वारा जल्द किया जाएगा। साथ ही मकर सक्रांति को देखते हुए 10 जनवरी तक सभी मजदूरों का ठेकेदारों द्वारा वेतन भुगतान कर दिया जाएगा।

इसके बाद ठेका यूनियन के सदस्यों ने लगभग 5:00 बजे संध्या हड़ताल समाप्त करने की घाेषणा कर दी। इस बैठक में यूसील प्रबंधन की ओर से शामिल लाेगाे में माइंस मैनेजर मनोरंजन महाली, डीजीएम सिविल अरुण सुचारी, पर्सनल मैनेजर तपोधरी भट्टाचार्य, ए के सील उपस्थित थे। वहीं ठेका मजदूराें की तरफ से अध्यक्ष सुधीर सोरेन, सचिव विद्यासागर दास, जिला परिषद सदस्य बाघराय मार्डी, सोमाय किस्कू, बलिया मुर्मू, सोना राम सोरेन आदि थे।

क्या कहते हैं विस्थापित समिति के अध्यक्ष :केंद्रीय संयुक्त विस्थापित समिति के अध्यक्ष सोमाय किस्कू ने बताया-ठेकेदार को सभी मजदूरों को 10 तारीख तक वेतन देना पड़ेगा, बकाया भुगतान भी करना पड़ेगा। मजदूराें की समस्या को यूसील प्रबंधन को गंभीरता से लेना चाहिए, नहीं तो जोरदार आंदोलन होगा। वेतन नहीं मिलने से घर के खर्च चलाने में परेशानी हो रही है। इसलिए सुबह से मुख्य गेट के सामने मजदूरों को विरोध जताना पड़ा। आश्वासन के बाद हड़ताल समाप्त करने का फैसला लिया गया।

खबरें और भी हैं...

    आज का राशिफल

    मेष
    Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
    मेष|Aries

    पॉजिटिव- आज आप बहुत ही शांतिपूर्ण तरीके से अपने काम संपन्न करने में सक्षम रहेंगे। सभी का सहयोग रहेगा। सरकारी कार्यों में सफलता मिलेगी। घर के बड़े बुजुर्गों का मार्गदर्शन आपके लिए सुकून दायक रहेगा। न...

    और पढ़ें