पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

अच्छी खबर:अब जिले के सभी सरकारी अस्पतालों में मिलेगी ऑक्सीजन युक्त बेड की सुविधा

जमशेदपुर/घाटशिला2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
डीसी कार्यालय में आयोजित समारोह में ऑक्सीजन सिलेंडर सौंपते टाटा स्टील के पदाधिकारी। - Dainik Bhaskar
डीसी कार्यालय में आयोजित समारोह में ऑक्सीजन सिलेंडर सौंपते टाटा स्टील के पदाधिकारी।
  • टाटा स्टील ने पूर्वी सिंहभूम जिला को सौंपा 700 मेडिकल आक्सीजन सिलेंडर

जिले के सभी सरकारी अस्पतालों में आक्सीजन युक्त बेड की संख्या अब बढ़ जाएगी। टाटा स्टील फाउंडेशन ने सीएसआर के तहत जिला को 700 मेडिकल आक्सीजन सिलेंडर उपलब्ध कराया है। इन सिलेंडर को एमजीएम अस्पताल, खासमहल स्थित सदर अस्पताल, घाटशिला अनुमंडल अस्पताल, प्रखंड में स्थित आठ प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र( पीएचसी) और जिले के 16 सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र( सीएचसी) में उपयोग में लाया जाएगा।

प्रशासन की ओर से इसकी सूची बनाई जा रही है। खासमहल स्थित सदर अस्पताल में 200 व एजीएम अस्पताल में 70 मेडिकल आक्सीजन सिलेंडर का उपयोग किया जाएगा। टाटा स्टील फाउंडेशन ने अबुधाबी ने मांगा कर 3000 मेडिकल आक्सीजन सिलेंडर झारखंड सरकार को सीएसआर के तहत प्रदान की है। इन 3000 में से 700 मेडिकल आक्सीजन सिलेंडर पूर्वी सिंहभूम जिला को मिला है।

शुक्रवार को उपायुक्त कार्यालय में आयोजित एक समारोह में फाउंडेशन के अधिकारियों ने सांकेतिक रुप से 100 सिलेंडर डीसी सूरज कुमार को सौंपा। मौके पर उपस्थित पत्रकारों से बात करते हुए डीसी ने कहा कि टाटा स्टील फाउंडेशन के द्वारा सीएसआर के तहत एनएचएम को मेडिकल आक्सीजन सिलेंडर सौंपा गया है।

कहां कितनी सिलेंडर की व्यवस्था

एमजीएम अस्पताल 70 खासमहल सदर अस्पताल 200 कांति लाल गांधी अस्पताल 20 घाटशिला अनुमंडल अस्पताल 90 पटमदा माचा पीएचसी 90 मुसाबनी पीएचसी 40 चाकुलिया पीएचसी 40 बहरागोड़ा पीएचसी 400 पोटका पीएचसी 40 धालभूमगढ़ पीएचसी 40 डुमरिया पीएचसी 30

काेराेना की तीसरी लहर काे लेकर हॉस्पिटल तैयार

कोरोना के तीसरे लहर की संभावना के दौरान स्वास्थ्य सुविधाओं को बेहतर बनाने में यह सिलेंडर सहायक साबित होगा। सीएचसी समेत अब किसी भी सरकारी अस्पताल में आक्सीजन युक्त बेड की कमी नहीं होगी। अन्य 600 सिलेंडर कहां-कहां भेजना है उसकी सूची फाउंडेशन को उपलब्ध करा दी जाएगी। फाउंडेशन के द्वारा संबंधित अस्पताल में पहुंचा दिया जाएगा।

मौके पर डीडीसी परमेश्वर भगत, एडीएम नंद किशोर लाल,डीआरडीए निदेशक सौरभ सिन्हा, अपर मुख्य चिकित्सा पदाधिकारी डा साहिर पाल , डीपीओ अजय कुमार व टाटा स्टील फाउंडेशन के अधिकारी उपस्थित थे। मालूम हो कि कोरोना के दूसरे संक्रमण के दौरान स्वास्थ्य विभाग की ओर से जिले के सभी आठ पीएचसी में पांच -पांच आक्सीजन युक्त बेड बनाया गया था जिसमें मेडिकल आक्सीजन सिलेंडर अथवा आक्सीजन कनसंटेटर की व्यवस्था की गई थी।

खबरें और भी हैं...