भागवत पूजन:श्रीमद् भागवत कथा सुनने से पाप से मिल जाती है मुक्ति

घाटशिलाएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
भगवान श्री कृष्ण का जयकारा लगाते श्रद्धालु व श्रीमद् भागवत कथा का वाचन करने कृष्णकांत। - Dainik Bhaskar
भगवान श्री कृष्ण का जयकारा लगाते श्रद्धालु व श्रीमद् भागवत कथा का वाचन करने कृष्णकांत।

श्री कच्छ गुर्जर क्षत्रिय समाज घाटशिला की ओर से गुजराती काॅलोनी में शनिवार सेे श्रीमद भागवत कथाज्ञान यज्ञ का शुभारंभ किया गया। इससे पूर्व श्रीमद भागवत का श्री राममंदिर से कलश के साथ भव्य शोभा यात्रा निकाली गई। गुलाबी और पीले वस्त्र पहनकर भक्तगण शोभायात्रा में थिरकते चल रहे थे। शोभा यात्रा में भक्तगण भक्ति संगीत की धून और पटाखों की गुंज केे साथ नाचते गाते हुए गुजराती कॉॅलोनी कथा स्थल तक पहुंचे। यहां मंडप में आचार्य कृष्णकांत भाई त्रिवेदी द्वारा वैदिक मंत्रोच्चारण के साथ भागवत पूजन करके आरती उतारने के बाद मंच पर स्थापित कर भागवत कथा का शुभारंभ किया गया।

राजकोट ( गुजरात) से आए कथा वाचक भगवताचार्य कृष्णकांत भाई ने कहा कि श्रीमद् भागवत कथा के सुनने मात्र से प्राणियों के द्वारा किए गए जीवन भर के पाप से मुक्ति मिल जाती है। इस दौरान कथा वाचक ने श्री कृष्ण गोविद हरे मुरारी, हे नाथ नारायण वासुदेवा का संकीर्तन पर श्रोता झूम उठे। स्थानीय कलाकारों द्वारा गणेश वंदना पर आर्कषक नृत्य प्रस्तुत किया गया। इस संबंध में आयोजकों ने बताया कि घाटशिला की पावन धरती पर 35 साल बाद इस समाज द्वारा श्रीमद भागवत कथा ज्ञान यज्ञ का आयोजन किया जा रहा है। यह आयोजन पितृ मोक्षार्थ केे लिए किया जा रहा है।

कथा के श्रवण से ही संसार सुखों के प्रति आपके व्यवहार को भक्तिमय, जीव मात्र के लिए दया, भगवत प्रेम और परमार्थ का देगा। कथा स्थल के निकट इस परिवार से जुड़े 14 सदस्यों की तस्वीर रखी गई थी जो अब इस दुनिया में नहीं रहे। बारी बारी से सभी को श्रद्धांजलि दी गई।

आज सुकदेवजी व नारद के चरित्र का किया जाएगा वर्णन

कथा में रविवार को सुकदेवजी व नारद के चरित्र का वर्णन होगा। कथा 11 नवंबर तक सुबह 9 बजे से दोपहर 1 बजे तक होगी। 13 नवंबर को कथा का समापन हवन व प्रसाद के साथ होगा। कथावाचन टीम में मुख्य रूप से कृष्णकांत केे अलावे उपआचार्य हिरेन भाई, कमलेश भाई, चैतन्य भट्ट, किशन भाई, केतन भाई सहित 7 सदस्यों की टीम शामिल है। कार्यक्रम के सफल आयोजन में छगनलाल भाई चौहान, उपेंद्र भाई चौहान, राजकुमार चौहान, विशाल चौदान, रवि चौहान, श्रेयस चौहान, चंपक चौहान, विनयवाला परमार, रूपेश चौहान, मुकेश चौहान, हेमलता चौहान आदि की मुख्य भूमिका रही।

खबरें और भी हैं...