पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

आपूर्ति ठप:50 करोड़ की लागत से बने सिंहपुरा ग्रिड ने आठ माह में ही तोड़ा दम

बहरागोड़ा14 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
बहरागोड़ा सिंहपुरा विद्युत ग्रिड। - Dainik Bhaskar
बहरागोड़ा सिंहपुरा विद्युत ग्रिड।

बहरागोड़ा के सिंहपुरा बिजली ग्रिड का 50 एमवीए का एक ट्रांसफाॅर्मर सोमवार की सुबह 10 बजे जल गया। एक अन्य 50 एमवीए का ट्रांंसफाॅर्मर पहले सेे जला हुआ था। इससे बहरागोड़ा व जगन्नाथपुर बिजली सब स्टेशन की आपूर्ति ठप हो गई। इस वजह से 452 गांव प्रभावित हो गए हैं। आनन-फानन में धालभूमगढ़ बिजली ग्रिड से बहरागोड़ा तथा जगन्नाथपुर सब स्टेशन को जोड़ने का प्रयास किया गया, पर बार-बार बिजली ट्रीप कर जा रही है।

पर्याप्त बिजली नहीं मिलनेे से बीते एक माह से बहरागोड़ा के उपभोक्ता परेशान थे। अब रही सही कसर भी पूरी हो गई। इधर, विद्युत विभाग अधिकारियों का दावा है कि ग्रिड में मेंटेंनेंस का काम चल रहा है। दो दिनों से अंदर बिजली आपूर्ति नियमित रूप से बहाल कर दी जाएगी।

कम बिजली मिलने से एक माह से बहरागोड़ा के उपभोक्ता परेशान पिछले कई माह से बहरागोड़ा में विद्युत पावर की कटौती किए जाने के कारण यहां के लोगों काे काफी परेशानी हाे रही है। बिजली विभाग के अधिकारी कहते हैं कि जेएसएलडीसी से ही विद्युत की आपूर्ति कम हो रही है। बहरागोड़ा में जहां 12 मेगावाट की आवश्यकता है, वहां छह मेगावाट यानी आधी बिजली आपूर्ति की जा रही है, जिससे बहरागोड़ा के लोग बिजली कटौती से परेशान हैं। सुबह और शाम में जब भी लोगों को बिजली की आवश्यकता होती है, उस समय पर बिजली काट दी जाती है।

दो साल पूर्व कराया गया था विद्युत ग्रिड का निर्माण

बहरागोड़ा के सिंहपुरा में स्थित विद्युत ग्रिड का निर्माण दो साल पूर्व कराया गया था। इसमें 50 एमबीए के दो पाॅवर ट्रांसफाॅर्मर लगाए गए थे। इस ग्रिड के निर्माण में करीब 50 करोड़ रुपए खर्च हुए थे। बीते जनवरी माह से बहरागोड़ा तथा जगन्नाथपुर सब स्टेशन को इस ग्रिड से जोड़ा गया था। आठ माह भी ग्रिड नहीं चला और एक-एक करके दोनों पाॅवर ट्रांसफाॅर्मर खराब हो गए।

इसके निर्माण से लेकर चालू होने तक लगातार भ्रष्टाचार के आरोप लगतेे रहे। इसके बाद भी इस पर किसी वरीय अधिकारियों का ध्यान नहीं रहा। बिजली निगम के अधिकारियों ने भी ध्यान नहीं दिया। इस ग्रिड के भवन भी बनते-बनते फटने लगे थे। अब भी फटे हुए भवन की दीवार भ्रष्टाचार के पोल खोल रहे हैं। एक पावर ट्रांसफाॅर्मर ठनका गिरने की वजह से पहले से खराब था। दूसरा भी सोमवार को दम तोड़ दिया।

इससे लगातार तेल रिसने की वजह से आज सेे बंद हो गया। कर्मियों का कहना है कि धालभूमगढ़ ग्रिड से 1 लाख 33 हजार वाेल्ट का तार बहरागाेड़ा जाता है उसमें कई स्थानाें में फाॅल्ट है। जिसके कारण ट्रिप हो रहा है।

फैक्ट फाइल

  • सिंहपुरा बिजली ग्रिड में कुल पावर ट्रांसफाॅर्मर लगा हुआ : दो
  • ग्रिड निर्माण की लागत : 50 करोड़
  • ग्रिड का कुल रकवा : 11.62 एकड़
  • कितने सबस्टेशन में बिजली आपूर्ति : दो, बहरागोड़ा और जगन्नाथपुर
  • बिजली संकट से प्रभावित गांव : 452

सिंहपुरा ग्रिड में मेंटेंनेंस का काम शुरू किया गया है। दो दिनों के अंदर बिजली आपूर्ति बहाल कर दी जाएगी। वहां एक पावर ट्रांसफाॅर्मर में खराबी आ गई है। विकल्प के रूप में धालभूमगढ़ ग्रिड से दोनों सब स्टेशनों को बिजली देने का काम किया गया है -दीपक कुमार, अधीक्षण अभियंता,(विद्युत) जमशेदपुर।

बहरागोड़ा के सिंहपुरा ग्रिड के एक पाॅवर ट्रांसफाॅर्मर में खराबी आने की सूचना पर जीएम से बात हुई है। वहां ट्रांसफाॅर्मर की मरम्मत कराने के लिए बाहर से टीम बुलाई गई है। पाॅवर ट्रांसफाॅर्मर की मरम्मत होने के बाद क्षेत्र में फिर से बिजली आपूर्ति बहाल कर दी जाएगी। - समीर मोहंती, विधायक, बहरागोड़ा।

खबरें और भी हैं...