दीपोत्सव से शहर रोशन:मंदिरों में महालक्ष्मी का विशेष शृंगार व्यापारियों ने की बही-खातों की पूजा

घाटशिला25 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
दीपावली पर दीप प्रज्ज्वलित करतीं महिलाएं। - Dainik Bhaskar
दीपावली पर दीप प्रज्ज्वलित करतीं महिलाएं।

दीपोत्सव के मौके पर अनुमंडल के विभिन्न क्षेत्रों में गुरुवार को महालक्ष्मी का पूजन किया गया। कोरोना महामारी के चलते दो साल बाद बाजार भी गुलजार रहा। वहीं शहर भी रोशनी से जगमगा उठा। दुकानों में व्यापारियों ने विधि विधान के साथ महालक्ष्मी का शृंगार कर पूूजन किया। उसके बाद बही-खातों का पूजन किया। वहीं लाेगों ने भी घर-घर पूजन किया।

लक्ष्मी पूजन और अन्नकूट उत्सव को लेकर शहर में खरीदारी के लिए सुबह से बाजार में रौनक देखी गई। शाम तक बाजार में लोगों की आवाजाही बनी रही। सुबह से लोग फूल, पूजा सामग्री, फल व मिठाई खरीदने बाजार में पहुंचे। दोपहर तक यह सिलसिला जारी रहा। बाजार में मिठाई, गहने सहित किराना व अन्य दुकानों पर भीड़ लगी रही। शाम को दुकानों व घरों में लक्ष्मी पूजन कर दीयों से सजाया गया। वहीं पूजन के बाद आतिशबाजी की गई।

अब तक घाटशिला में करीब 94 हजार 988 हजार यानि 83.80 फीसदी लोगों को कोरोना वैक्सीन का पहला डोज लगा चुका है। इसके चलते बाजार में रौनक बढ़ी है। जबकि करीब 29 हजार 723 लोगों ने दूसरा टीका लगवाया लिया है। दूसरे डोज का वैक्सीनेशन और बढ़ने पर आगामी त्यौहारों पर और रौनक बढ़ेगी। आम दिनों के मुकाबले फूलों की बिक्री 25 गुना ज्यादा, रंगीन रोशनी से सजा शहर

पिछले साल कोरोना और लॉकडाउन का असर दिखाई दिया था। लेकिन इस बार दिवाली पर पुराने सारे बंधन नहीं रहे तो लोगों ने भी जमकर पर्व का आनंद लिया। पूरा शहर रंगीन रोशनी से नहा गया। मंदिरों में विशेष पूजा-अर्चना की गई। घरों में महालक्ष्मी पूजन के साथ सुख-समृद्धि की कामना की गई। दरवाजों पर रंगोली बनाई, दीपक जलाकर लक्ष्मीजी को आमंत्रित किया गया। व्यापार की भी इस साल दिवाली रही। बाजार में जमकर भीड़ उमड़ी। शहर में हर घर-हर दुकान फूलों से सजे दिखाई दिए। आम दिनों के मुकाबले फूलों की बिक्री 25 गुना से भी ज्यादा रही।

इसके लिए दुकानदारों ने पहले से स्टॉक कर रखा था। इस बार पटाखों की दुकानों पर भी दिवाली के दिन तक भीड़ रही। महंगा होने के बावजूद लोगों ने खर्च करने में कसर नहीं छोड़ी। गांवों से लोग काफी संख्या में खरीदारी के लिए गुरुवार को शहर में पहुंचे। यहां गाय गोहरी पर्व के लिए सामान खरीदा और दिवाली की अपनी परंपराओं को निभाने के लिए खरीदारी की। बाजार में मिठाई, नमकीन और चॉकलेट की बिक्री काफी ज्यादा रही। उत्साह पूरे शहर में दिखाई दिया। बच्चों में खास उत्साह था।

खबरें और भी हैं...