अव्यवस्था से टूटती सांसें:मऊभंडार वर्क्स अस्पताल के आइसोलेशन वार्ड में 12 घंटे के भीतर दो मरीज की मौत

घाटशिला6 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • अनुमंडल का आइसोलेशन वार्ड कोरोना मरीजों के लिए बन रहा जानलेवा

कोरोना के बढ़ते संक्रमण ने घाटशिला अनुमंडल क्षेत्र को भी अपनी चपेट में ले लिया है। आए दिन कोरोना पीड़ित मरीज दम तोड़ रहे हैं। मऊभंडार वर्क्स अस्पताल के आइसोलेशन वार्ड में 12 घंटे के दरम्यान दो कोरोना पीड़ितों ने दम तोड़ दिया है। वर्क्स अस्पताल के मेल वार्ड में प्रशासन की पहल के बाद आइसोलेशन वार्ड तैयार किया है। मंगलवार की देर शाम एक व्यक्ति की तो बुधवार की सुबह एक अन्य ने भी दम तोड़ दिया। ऐसा नहीं है कि घाटशिला अनुमंडल क्षेत्र में कोरोना महामारी से मौत की यह कोई पहली घटना घटित हुई है।

इससे पूर्व भी अनुमंडल के कई अन्य लोग भी कोरोना की जद में आकर अपनी जान गंवा चुके हैं। हाल ही में घाटशिला के स्वर्णरेखा नर्सिंग होम में एक युवक की मौत कोरोना संक्रमण के कारण हो गई थी। बता दें कोरोना के बढ़ते संक्रमण से निपटने के लिए प्रशासन लगातार जद्दोजहद कर आइसोलेशन वार्ड तो तैयार करा रही है, लेकिन ऐसे वार्ड लोगों की जान बचाने में नाकाम साबित हो रहे हैं। प्रशासन द्वारा तैयार कराए गए आइसोलेशन वार्ड में ऑक्सीजन युक्त बेड तो लगाए गए हैं, जहां मरीजों को जरूरत के हिसाब से ऑक्सीजन मिल सके। लेकिन आइसोलेशन वार्ड में कोरोना के कारण अत्यंत गम्भीर रूप से पीड़ित मरीजों का इलाज नहीं हो पा रहा है।

खबरें और भी हैं...