पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

घेराव:टीकाकरण करने गई टीम को ग्रामीणों ने घेरा, बीडीओ के समझाने पर हुए शांत

गोइलकेराएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • घोड़ाडुबा गांव के लोग वैक्सीन को हानिकारक बता कर कैंप हटाने की कर रहे थे जिद्द

गोइलकेरा के घोड़ाडुबा गांव में कोरोना का टीका देने गई मेडिकल टीम की जान घंटों सांसत में रही। टीम के सदस्यों को लाठी-डंडे से लैस सैकड़ों ग्रामीणों ने घेर लिया। इस दौरान स्वास्थ्य कर्मियों को लोगों के भारी विरोध का सामना करना पड़ा। ग्रामीण कोविड-19 टीके को हानिकारक बताते हुए किसी भी हाल में टीका नहीं लगवाने और वैक्सिनेशन कैंप को हटाने की मांग कर रहे थे।

सूचना मिलते ही बीडीओ सुधीर प्रकाश, प्रभारी चिकित्सा पदाधिकारी डॉ नरेश बास्के, बाल विकास परियोजना पदाधिकारी साधना चौधरी, प्रखंड कृषि पदाधिकारी लालू हेम्ब्रम मौके पर पहुंचे और स्थिति को संभाला। ग्रामीणों ने मेडिकल टीम को बंधक बनाकर रखा था। करीब दो घंटे तक बीडीओ समेत तमाम अधिकारियों ने लोगों को समझाया व टीका लगाने की अपील की। बीडीओ सुधीर प्रकाश ने ग्रामीणों को समझाते हुए कहा- टीके पूरी तरह सुरक्षित हैं और यह कोरोना महामारी से सुरक्षा प्रदान करता है। बीडीओ के समझाने के बाद शिविर में 27 लोगों को कोरोना की वैक्सीन दी गई। वहीं बारा पंचायत के पांच अन्य जगहों पर आयोजित शिविरों में किसी भी व्यक्ति ने टीका नहीं लगवाया।

खबरें और भी हैं...