पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

दाम बड़े:7 दिन में मटर के भाव में 1300 रु. व चना में ~600 प्रति क्विंटल की वृद्धि, सरसाें तेल प्रति लीटर सात रुपए बढ़ा

जादूगोड़ाएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • प्रशासन की सख्ती के कारण सभी खाद्य सामग्री के दामों में आई थी गिरावट; अब प्रशासन उदासीन, उपभोक्ता परेशान

कोरोना संक्रमण के दौरान प्रशासन की सख्ती के कारण सभी खाद्य सामग्री के दामों में काफी हद तक नियंत्रण पाने में सफलता मिली थी। लेकिन हाल के दिनों में प्रशासन की उदासीनता के कारण खाद्य सामग्रियाें के दामाें में वृद्धि देखी जा रही है। इसका सीधा प्रभाव उपभोक्ताओं पर पड़ रहा है। एक सप्ताह के अंदर सामान के दाम आसमान छूने लगे हैं। लोगों की जरूरत में काम आने वाली सबसे प्रमुख खाद्य सामग्री में चना, मटर एवं खाद्य तेल के दाम देखते ही देखते आसमान छूने लगे हैं। लेकिन प्रशासन एवं सरकार का अभी तक इस ओर ध्यान नहीं गया है राजेमर्रा की चीजाें में दाम बढ़ोतरी के कारण उपभोक्ताओं का हाल बेहाल है।

एक तोकोरोना के कारण लोग लॉकडाउन से ऐसे ही परेशान हैं, दूसरी ओर दाम में बढ़ोतरी लोगों काे और परेशानी में डाल दिया है। पिछले एक सप्ताह के अंदर जो मटर के दाम में प्रति क्विंटल 1300 रुपए की वृद्धि देखी गई है। जिस मटर का दाम पहले 5500 रुपए प्रति क्विंटल था अब उसकी कीमत 6800 रुपए प्रति क्विंटल हाे गई है। वहीं चना जाे पहले 4600 रुपए प्रति क्विंटल के भाव बिक रहा था, अब उस चने का दाम लगभग 5400 रुपए प्रति क्विंटल हो गया है। यही हाल सरसाें तेल के साथ भी है। सरसों तेल जहां एक हफ्ता पहले 112 रुपए प्रति लीटर था, अब बढ़कर 120 रुपए प्रति लीटर सलोनी ब्रांड का हो गया है। सरकार की ओर से मूल्य पर किसी प्रकार का नियंत्रण नहीं होने के कारण थोक विक्रेता मनमर्जी दाम ले रहे हैं। मटर तो लगभग बाजार से गायब ही है। इससे ग्राहकों को परेशानी का सामना करना पड़ रहा है। वहीं सरकार चुप है।

0

आज का राशिफल

मेष
Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
मेष|Aries

पॉजिटिव- आज आप धैर्य व विवेक का उपयोग करके किसी भी समस्या को सुलझाने में सक्षम रहेंगे। आर्थिक पक्ष पहले से अधिक सुदृढ़ स्थिति में रहेगा। परिवार के लोगों की छोटी-मोटी जरूरतों का ध्यान रखना आपको खुशी प्र...

और पढ़ें