पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

प्राथमिक शिक्षक:मंत्री रामेश्वर उरांव की टिप्पणी से भड़के सरकारी स्कूल के शिक्षक, काला बिल्ला लगा जताया रोष

चाकुलिया5 दिन पहले
  • कॉपी लिंक

चाकुलिया प्रखंड के सभी सरकारी विद्यालय के शिक्षक-शिक्षिकाओं द्वारा अखिल झारखंड प्राथमिक शिक्षक संघ के बैनर तले मंगलवार को वित्त मंत्री डॉ रामेश्वर उरांव द्वारा सरकारी शिक्षकों और विद्यालयों पर की गयी टिप्पणी के खिलाफ काला बिल्ला लगाकर शैक्षणिक एवं गैर- शैक्षणिक कार्य सम्पादित किया गया। इस मौके पर शिक्षकों द्वारा वित्त मंत्री के बयान के विरुद्ध रोष प्रकट किया गया। बता दें कि मंत्री ने अपने बयान में कहा है कि सरकारी शिक्षकों में कोई उत्सुकता नजर नहीं आती है। यदि प्राइवेट स्कूल नहीं होते तो गुणवत्तापूर्ण शिक्षा के मामले में देश और झारखंड काफी पिछड़ गया होता।

इस दौरान शिक्षकों ने कहा कि सरकारी एवं प्राइवेट विद्यालयों में पढ़ने वाले बच्चे बिलकुल अलग-अलग समूह से हैं। एक साधन विहीन, कम पढ़े-लिखे अभिभावकों और ज्यादातर ग्रामीण परिवेश के बच्चे हैं। तो दूसरी तरफ अपेक्षाकृत साधन संपन्न, शिक्षित और जागरूक अभिभावक के बच्चों का समूह है। इनकी तुलना करना गलत है। कहा कि शिक्षा के साथ-साथ सरकारी विद्यालय कल्याणकारी राज्य के उद्देश्यों कि प्राप्ति का प्रतिनिधि है। सरकारी शिक्षकों पर राज्य और केंद्र सरकार की योजनाओं को लागू करने का भार भी होता है। ऐसे में सरकारी शिक्षकों के कार्यों की सराहना ना करके उनके कर्तव्यों पर लांक्षण लगाना कहां तक उचित है।

विरोध करने वालों में संघ के पूर्व जिला महासचिव शिव शंकर पोलाई, प्रखंड अध्यक्ष मनिंद्र नाथ टुडू, प्रखंड सचिव सुनील कुमार सिंह,धीरेन्द्र नाथ बास्के,माधव चंद्र मुर्मू, रंटु कुमार दास, कृष्ण पद महतो,बिनय दास,मृणाल कर, युधिष्ठिर प्रसाद, नील कमल महतो, नारायण चंद्र महतो, सुनील कुमार बेरा, भावतोष महतो,तपन महतो,प्राण किशोर महतो,देवव्रत माइती, विजय कुमार मानकी, नुनु लाल बास्के,बिमल कुमार महतो, संजीब नामता, अनीता महतो, अशोक, कुमार महतो,तारक नाथ राज, विद्युत कुमार मल्लिक, देवाशीष सोरेन, नारायण बाउरी,अर्पण सेन,आद्यनाथ उरिन्दा, अरविन्द गिरी,हराधन बेरा, तापस महतो आदि शामिल थे।

खबरें और भी हैं...