पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

समिति का गठन:2 करोड़ खर्च से 250 एकड़ भूमि पर होगी सिंचाई

धालभूमगढ़4 दिन पहले
  • कॉपी लिंक

जोहार परियोजना के तहत उत्पादक समूह के किसानों की आय दोगुना करने के लिए तथा सब्जी की खेती को बढ़ावा देने हेतु धालभूमगढ़ प्रखंड क्षेत्र में दो करोड़ की लागत से 25 सोलर संचालित सिंचाई योजना बनाई गई है। इस सिंचाई योजना से लगभग 250 एकड़ जमीन की सिंचाई होगी। सोलर संचालित सिंचाई योजना में सोलर सिस्टम के सहारे 5 एचपी का पंप संचालित किया जा रहा है।

इसके लिए अलग से पंप हाउस भी बना हुआ है। सोलर संचालित सिंचाई योजना को नदी, नाला व तालाब से जोड़ा गया है। पाइप लाइन के सहारे लगभग 500 फीट तक पानी सिंचाई के लिए ले जाया जा सकता है। जिसमें 5 से 7 आउटलेट भी लगाए गए हैं। इस तरह की सोलर संचालित सिंचाई योजना पर पूरे प्रखंड क्षेत्र में अभी तक 2 करोड़ रुपए खर्च हुआ है। एक यूनिट की लागत 8 लाख रुपए है। इसे संचालित करने को लेकर जल उपभोक्ता समिति का भी गठन किया गया है। इसके साथ ही एक तकनीकी सेवा दाता काे भी सिंचाई योजना की देखरेख के लिए चयन किया गया है। उसे प्रशिक्षण भी दिया जा चुका है।

इस योजना में 5 प्रतिशत राशि किसानों के सहयोग से तथा 95 प्रतिशत राशि परियोजना का लगाया गया है। इस तरह की सिंचाई योजना से ग्रामीण क्षेत्रों में किसानों को सिंचाई के लिए भरपूर लाभ मिल रहा है। आने वाले समय में प्रखंड क्षेत्र में सब्जी उत्पादक एक अलग पहचान बना सकते हैं।

खबरें और भी हैं...