भास्कर ब्रेकिग:एक दिन में रिकाॅर्ड 281 कराेड़ की 29 सड़कें मंजूर, मानगो से पारडीह रोड की होगी मरम्मत

जमशेदपुरएक महीने पहलेलेखक: शंभू श्रवण
  • कॉपी लिंक
  • तीन माह में करीब 1500 कराेड़ की सड़क याेजनाएं स्वीकृत

काेराेना के बाद पथ निर्माण विभाग फास्टट्रैक माेड में आ गया है। विभाग ने 18 अक्टूबर काे एक ही दिन में 281 कराेड़ की 29 सड़क याेजनाओ की स्वीकृति दी। इन पर काम शुरू करने की प्रक्रिया भी शुरू हाे गई है। इनमें से ज्यादातर सड़कें एक साल के भीतर पूरी करने का लक्ष्य है। इन सड़काें काे नेशनल हाइवे की तरह बनाया जाएगा। इन सड़कों में मानगो चौक से पारडीह तक 4.425 किमी सड़क भी है। इससे पहले कैबिनेट के स्तर पर एक दिन में 700 कराेड़ की याेजनाएं स्वीकृत की गई थी।

यही नहीं, पिछले तीन महीने में करीब 1500 कराेड़ की 65 याेजनाएं स्वीकृत की गई हैं, जबकि एक हजार कराेड़ रुपए की याेजनाएं पाइपलाइन में हैं। यानी करीब 2700 कराेड़ सड़काें पर खर्च हाेंगे। गाैरतलब है कि काेराेना काल में सड़काें के निर्माण और मरम्मत पर पूरी तरह से बंद हाे गई थी। काॅन्ट्रैक्टर पुरानी दराें काे संशाेधित करने की मांग कर रहे थे। शिड्यूल ऑफ रेट रिवाइज न हाेने के कारण करीब डेढ़ साल तक काम ठप रहा।

कोल्हान प्रमंडल की 5 सड़कों की 57.12 करोड़ रुपए से होगी मरम्मत

कोल्हान प्रमंडल की 5 प्रमुख सड़क की 57.12 करोड़ रुपए की लागत से मरम्मत की जाएगी। इसमें सरायकेला-खरसावां और पश्चिम सिंहभूम की 2-2 और पूर्वी सिंहभूम की एक सड़क शामिल है। विभाग द्वारा इस पर स्वीकृति प्रदान करते हुए राशि का आवंटन किया है। राशि आवंटन के बाद विभाग की ओर से टेंडर निकालने की प्रक्रिया शुरू की जा रही है।

सड़क का नाम लंबाई (किमी) राशि (लाख रु.)
मानगो चौक से पारडीह 4.425 501.60
उकरी-आकर्षिणी-गौंदपुर 14.986 816.36
गोपीडीह बड़ाबाम्बो तक 23.04 1396.65
मझगांव-जंैतगढ़-नोवामुंडी 26.60 1565.14
तांतनगर-कुमारडुंगी-मझगांव 27.00 1432.25

सड़क निर्माण पर इसलिए फाेकस

1. सड़काें का निर्माण लाेगाें काे राेजगार मिलेगा। सामग्री की खपत बढ़ेगी। इससे बाजार में पैसे अाएंगे।

2.पर्यटन सेक्टर में भी तेजी आएगी। सप्लाई चेन दुरुस्त हाेगा और पुलिस का मूवमेंट बेहतर हाेगा।

3.काेराेना काल में मरम्मत के अभाव में सड़काें की स्थिति जर्जर हाे गई थी। ट्रांसपाेर्टेशन काॅस्ट बढ़ गया था। दुर्घटनाएं भी बढ़ गई थीं।

जमीन अधिग्रहण का काम पूरा
काेराेना और दराें के निर्धारण के कारण डेढ़ साल तक सड़काें का निर्माण प्रभावित रहा। इस दाैरान हमने कागजी प्रक्रियाएं पूरी की। जमीन अधिग्रहण, सड़काें का चयन और डीपीआर बनाने का काम भी पूरा किया। सभी तैयारियां तेजी से हाे रही थी। इसलिए विभाग ने करीब 1500 कराेड़ की याेजनाएं स्वीकृत कर दी।
-सुनील कुमार, सचिव, पथ निर्माण विभाग

खबरें और भी हैं...