साइबर ठगी:बेटी काे नीट में पास कराने के नाम पर साॅफ्टवेयर इंजीनियर से 50 लाख ठगे

जमशेदपुर2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
प्रतिकात्मक तस्वीर। - Dainik Bhaskar
प्रतिकात्मक तस्वीर।

बेटी काे नीट पास कराने के नाम पर शहर के एक साॅफ्टवेयर इंजीनियर अमरनाथ से 50 लाख रुपए ठग लिए गए। गिराेह ने नेशनल टेस्टिंग एजेंसी (एनटीए) के डायरेक्टर विनीत जाेशी के नाम पर खाेले गए एकाउंट में जमा करवाया। यही नहीं, ठगाें ने सात लाख रुपए एडवांस लेकर नीट की फर्जी वेबसाइट पर उनकी बेटी काे पास दिखाया और कुल पांच किस्ताें में आरटीजीएस के जरिए 50 लाख रुपए जमा करवाए। साॅफ्टवेयर इंजीनियर काे ठगी का पता तब चला, जब ऑरिजनल वेबसाइट पर बेटी का नाम नहीं दिखा।

इसके बाद उन्हाेंने बुधवार काे बिष्टुपुर साइबर थाने में शिकायत की। इस शिकायत के आधार पर साइबर थाने की पुलिस ने उन्होंने मोबाइल नंबर 9205042067 के धारक, इंडसइंड बैंक खाता संख्या 158448619686 के धारक और नीट हेल्पलाइन मोबाइल नंबर 01140759000 के खिलाफ एफआईआर दर्ज की है। ठगी का यह मामला कदमा कदमा थाना क्षेत्र के निर्मल काॅलाेनी निवासी पुणे के साॅफ्टवेयर इंजीनियर अमरनाथ खां के साथ हुआ। इधर, साइबर थाने के प्रभारी उपेंद्र कुमार मंडल ने बताया कि 50 लाख रुपए ठगने की शिकायत दर्ज हुई है। मामले की जांच की जा रही है।

नंबर बढ़वाने के नाम पर मांगे थे पैसे

मेरी बेटी ने नीट की साइट पर जाकर ऑनलाइन आवेदन भरा था। 12 सितंबर काे परीक्षा हाेनी थी। इससे पहले 22 अगस्त को नीट हेल्पलाइन नंबर 01140759000 से मेरे मोबाइल पर कॉल आया। कहा गया कि परीक्षा केंद्र कोलकाता, भुवनेश्वर, जमशेदपुर है। आपको परीक्षा के लिए कोलकाता जाना है। मैंने कहा कि कोलकाता तो बहुत दूर हो जाएगा। इसके बाद उसने जमशेदपुर में सेंटर बदल दिया। एडमिट कार्ड मिला तो उसमें परीक्षा सेंटर जमशेदपुर के बारीडीह एआईडब्ल्यूसी स्कूल में था।

इसके बाद फिर उसी नंबर से 25 अगस्त को फोन आया कि यदि बेटी का नीट की परीक्षा में नंबर बढ़ाना है तो उसके लिए 50 लाख देने होंगे। मुझे उनपर विश्वास नहीं हुआ तो उसने बेटी का आवेदन फॉर्म में किया गया साइन, थंब इंप्रेशन की तस्वीरें भेजी, जो ऑरिजनल थे। ठगों ने कहा कि मुझे पैसे सीधे नीट के डायरेक्टर विनीत जोशी के खाते में जमा करने होंगे। मैंने सर्च किया तो नीट के डायरेक्टर विनीत जोशी का नाम मिला। विश्वास होने के बाद 27 अगस्त को मैंने सात लाख रुपए इंडसइंड बैंक के खाता संख्या 158448619686 के धारक विनीत जोशी के खाते में ट्रांसफर किए।

सिर्फ 186 अंक मिले ताे पता चला, हम ठगे गए

उसने और विश्वास जताने के लिए ntaoffice.in-neet2021-result साइट और पासवर्ड दिया। जिसपर बेटी के नीट की सारी जानकारी मिली। ठगों ने बताई गई साइट पर बेटी का रिजल्ट में अंक 652 दिखाए। 12 अक्टूबर से लेकर 20 अक्टूबर तक पांच बार में बाकी के 43 लाख रुपए ट्रांसफर किए। कुछ रुपए घर से व कुछ रिश्तेदारों से उधार लिए। 9 सितंबर को जब रिजल्ट आया तो बेटी का अंक 186 था। इससे संदेह हो गया कि मेरे साथ ठगी हुई है। मैं कदमा थाने गया, वहां से मुझे बिष्टुपुर साइबर थाना में शिकायत करने को बोला गया। तब साइबर थाने में केस दर्ज कराया। पत्नी की तबीयत खराब उनका इलाज वेल्लोर में चल रहा है। चिंता है कि इलाज में अड़चन आएगी।

खबरें और भी हैं...