पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

दूसरी लहर की आशंका:जमशेदपुर में 71 दिन बाद 55 वर्षीय महिला की मौत, 3 दिन में 124 नए केस

जमशेदपुरएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
फाइल फोटो - Dainik Bhaskar
फाइल फोटो
  • जिले में एक्टिव केस की संख्या 275, आज से चलेगा विशेष जांच अभियान
  • दूसरी ओर, पिछले 72 घंटे में जिले में 4278 सैंपल की जांच में 124 नए संक्रमित मिले

पूर्वी सिंहभूम जिले में कोरोना के सेकेंड वेव की रफ्तार बढ़ने के साथ ही 28 मार्च को खैरबनी बेदनाडीह के शांतिनगर निवासी 55 वर्षीय संक्रमित महिला की टाटा मोटर्स हॉस्पिटल में मौत हो गई। इसकेे पहले 16 जनवरी को सोनारी के 73 वर्षीय पुरुष की मौत कोरोना से हुई थी। मंगलवार को स्वास्थ्य विभाग की टीम मृतका के गांव में कोरोना जांच करने पहुंची तो लोगों ने भगा दिया। उनका कहना था- 10 दिन बाद टेस्ट करने की इजाजत दी जाएगी।

दूसरी ओर, पिछले 72 घंटे में जिले में 4278 सैंपल की जांच में 124 नए संक्रमित मिले। संक्रमितों की संख्या 18785 पहुंच गई है। इनमें 18134 मरीज ठीक हो चुके हैं। सक्रिय मरीजों की संख्या 275 है। वहीं कोरोना जांच के लिए जिले में विशेष अभियान के तहत पहले दिन 5600 लोगों का सैंपल लेने का लक्ष्य रखा गया है। इनमें शहरी क्षेत्र में 2000 और ग्रामीण में 3600 लोगों के सैंपल लिए जाएंगे। जेएनएसी, मानगाे नगर निगम व जुगसलाई नगर परिषद क्षेत्र में 10 जगहाें पर सेंटर बनाए गए हैं। ये सेंटर पीएम माॅल, साकची गाेलचक्कर, आम बागान, वीर कुंवर सिंह चाैक जुगसलाई, खु़दीराम बाेस चाैक मानगाे समेत कदमा, साेनारी, बारीडीह के मुख्य चाैराहाें पर हैं।

इधर, रांची में रामनवमी जुलूस पर रोक

  • सभी रैली और जुलूस पर प्रतिबंध रहेगा
  • सरहुल एवं रामनवमी शोभायात्रा पर रोक रहेगी
  • डीजे व तेज आवाज वाले माइक के प्रयोग पर प्रतिबंध रहेगा
  • अश्लील या भड़काऊ गाने-भाषण पर पूरी तरह प्रतिबंध रहेगा

क्या है आदेश

रांची एसडीओ कार्यालय द्वारा पूर्व में जारी सभी अनुमति पत्र तत्काल प्रभाव से निरस्त कर दिए गए हैं। साथ ही 27 मार्च से नए सिरे से 30 अप्रैल तक निषेधाज्ञा लागू कर दी है। पूर्व में शब-ए-बरात व होली को लेकर 30 मार्च तक निषेधाज्ञा लागू की गई थी।

भास्कर एक्सपर्ट- डी-हाईड्रेशन, उल्टी-दस्त हाेने पर भी टेस्ट कराना अब जरूरी

कोरोना फैलने के शुरुआती दौर में बुखार, जुकाम, खांसी जैसे लक्षण आम थे। तब इस बीमारी के बारे में उतनी समझ भी नहीं थी। अब हम देख रहे हैं कि डी-हाईड्रेशन, उल्टी-दस्त, जोड़ों का दर्द, बॉडी ऑर्गन का कम काम करना, हृदय कमजोर होना, फेफड़ों की क्षमता घटना जैसे कई तरह के लक्षण हैं, जो कोरोना मरीजों में देखने को मिल रहे हैं। इसलिए अगर किसी व्यक्ति को उल्टी-दस्त की शिकायत हो तो उसे भी कोरोना टेस्ट करा लेना चाहिए।'
- डॉ नरेंद्र अरोड़ा, चेयरमेन, काेविड नेशनल रिसर्च टास्कफोर्स, भारत सरकार

खबरें और भी हैं...

    आज का राशिफल

    मेष
    Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
    मेष|Aries

    पॉजिटिव- वर्तमान परिस्थितियों को समझते हुए भविष्य संबंधी योजनाओं पर कुछ विचार विमर्श करेंगे। तथा परिवार में चल रही अव्यवस्था को भी दूर करने के लिए कुछ महत्वपूर्ण नियम बनाएंगे और आप काफी हद तक इन कार्य...

    और पढ़ें