भास्कर एक्सक्लूसिव:88 साल पुरानी डीएम लाइब्रेरी की मल्टीपर्पज बिल्डिंग तैयार एजेंसी इसी महीने जेएनएसी को हैंडओवर करने की तैयारी में

जमशेदपुर2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
साकची में डीएम लाइब्रेरी का नया भवन। - Dainik Bhaskar
साकची में डीएम लाइब्रेरी का नया भवन।

साकची स्ट्रेट माइल रोड स्थित डीएम लाइब्रेरी का अत्याधुनिक भवन तैयार हो गया है। 1936 में स्थापित इस लाइब्रेरी के भवन का 88 साल बाद लुक बदला है। यहां पुराने बिल्डिंग को हटाकर जी प्लस-4 बिल्डिंग बनाया गया है।

मई में ही इसे हैंडओवर करने की तैयारी चल रही है। हैंड ओवर होने के बाद डीएम लाइब्रेरी में पुस्तकों की सजावट का काम होगा।

जुडको की देखरेख में लाइब्रेरी के नए मल्टीपर्पज बिल्डिंग का काम करीब डेढ़ साल में पूरा हुआ है। इस पर 13 करोड़ रुपए खर्च किए गए हैं। अत्याधुनिक भवन की लाइब्रेरी में लोग अपनी मनपसंद किताबों को पढ़ सकेंगे। यहां ई लाइब्रेरी की भी व्यवस्था रहेगी।

डिजिटल होंगी पुरानी किताबें
यहां लाइब्रेरी की पुरानी किताबों को डिजिटलाइज्ड किए जाने की तैयारी है। इससे पुरानी पुस्तकों का संरक्षण भी होगा। लोगों के लिए अखबार और नई-पुरानी पुस्तकें भी उपलब्ध रहेंगी। भवन के चौथे तल्ले पर वातानुकूलित सभागार बनाया गया है। जहां संगोष्ठी और कार्यक्रमों का आयोजन होगा।

भवन हैंडओवर लेने के बाद पुस्तकों की सजावट का होगा काम

डीएम लाइब्रेरी एक नजर में

2022 मिला नया लुक

17 माह में निर्माण

लागत 13 कराेड़ रुपए स्वरुप: जी प्लस-4

जी प्लस-4 भवन में कहां-क्या

  • ग्राउंड फ्लोर : पार्किंग, दुकान और वॉश रुम।
  • फर्स्ट और सेकेंड फ्लोर: ई-लाइब्रेरी, डिजिटल लाइब्रेरी, रीडिंग रुम।
  • थर्ड फ्लोर: ऑफिस।
  • फोर्थ फ्लोर: सभागार।​​​​​​​

डीएम लाइब्रेरी अब नई बिल्डिंग में दिखाई देगी। काम लगभग पूरा हो गया है। इस माह के अंत तक भवन हैंडओवर करने का पूरा कर लिया जाएगा। इसमें लाइब्रेरी के साथ कॉमर्शियल कार्य होंगे। लोगों को पढ़ने का अच्छा माहौल भी मिलेगा। -कृष्ण कुमार, विशेष पदाधिकारी, जमशेदपुर अक्षेस

खबरें और भी हैं...