गरीबों को लालच देकर धर्म परिवर्च:काशीडीह चर्च में धर्म परिवर्तन कराने का आरोप, किया हंगामा

जमशेदपुर8 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • विवाद- विहिप ने कहा-पैसों का लालच देकर कराया जा रहा था गरीबों का धर्म परिवर्तन
  • चर्च के फादर ने कहा- पड़ोसी विजय गुप्ता से दीवार उठाने को लेकर है विवाद उसी ने फैलाई झूठी अफवाह

साकची थाना के काशीडीह लाइन नंबर एक में ललित मोहन दास के घर में विश्व हिंदू परिषद के सदस्यों ने रविवार की सुबह जमकर हंगामा किया। विहिप के सदस्यों का आरोप था कि ललित मोहन दास के घर में कई सालों से एक चर्च संचालित है। यहां पिछले कुछ महीनों से पैसों का लालच देकर लोगों का धर्म परिवर्तन कराया जा रहा था। सूचना मिलने पर विहिप के सभी सदस्य ललित मोहन दास के घर पहुंचे और वहां जमकर हंगामा किया।

घटना की सूचना पर पुलिस मौके पर पहुंची। मामला शांत कराने के बाद चर्च के फादर समेत अन्य को पुलिस थाने ले आई। विहिप कार्यकर्ता भी थाने पहुंचे और कार्रवाई की मांग की। विहिप के महानगर सह मंत्री चंदन चौबे ने बताया ललित मोहन दास के घर में धर्म परिवर्तन कराए जाने की सूचना मिली थी। वे लोग वहां पहुंचे तो चर्च में 100 से ज्यादा लोग मौजूद थे। वहां लोगों से पैसे और नौकरी का लालच देकर धर्म परिवर्तन कराया जा रहा था। चर्च में कोविड नियमों का उल्लंघन भी किया जा रहा था। चंदन चौबे ने बताया करीब 6 माह से ललित मोहन दास के घर में बने चर्च में धर्म परिवर्तन कराने का काम चल रहा था। जबकि वहां चर्च करीब पिछले 20 सालों से संचालित है।

प्रार्थना सभा में जुटे सभी लोग अपनी मर्जी से आए थे

इधर, चर्च के फादर मधु नायक ने बताया- रविवार को चर्च में प्रार्थना सभा चल रही थी। इसी बीच कुछ लोग चर्च में घुसे और वहां हंगामा करने लगे। लोगों ने उनके साथ धक्का-मुक्की भी की। चर्च में धर्म परिवर्तन नहीं कराया जा रहा था। उन पर लोगों द्वारा झूठा आरोप लगाया गया है। फादर ने बताया प्रार्थना सभा में जुटे सभी लोग अपनी मर्जी से वहां आए थे। ना कि उन्हें पैसों और नौकरी देने की लालच देकर वहां बुलाया गया था। उन्होंने बताया पड़ोसी विजय गुप्ता से दीवार उठाने को लेकर उनका विवाद है। विजय गुप्ता ने ही झूठी खबर फैला दी।

धर्म परिवर्तन का आरोप लगाकर काशीडीह में हंगामा हुआ। चर्च में प्रार्थना सभा चल रही थी। चर्च में धर्म परिवर्तन कराए जाने की बात जांच में सामने नहीं आई है।

-कुणाल कुमार, थाना प्रभारी, साकची

खबरें और भी हैं...