दुर्गा पूजा:284 मजिस्ट्रेट व 1200 जवानों की निगरानी में श्रद्धालु करेंगे मां के दर्शन

जमशेदपुर12 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
  • कोरोना थर्ड वेव की आशंका को लेकर इस बार भी पाबंदियों के बीच होगी पूजा

कोरोना थर्ड वेव की आशंका के बीच जिले में कई तरह की पाबंदियों के साथ दुर्गा पूजा का आयोजन हो रहा है। वर्ष 2020 में कोरोना के कारण दुर्गा पूजा का आयोजन सख्त पाबंदियों के बीच हुआ था। इस बार किसी भी पूजा स्थल पर भव्य पंडाल का निर्माण नहीं होगा, विद्युत सज्जा भी नहीं की जाएगी व प्रतिमा की अधिकतम ऊंचाई 5 फीट तय किया है।

इस कारण पूजा स्थल पर भीड़ नहीं होगी। गुरुवार को डीसी सूरज कुमार व एसएसपी डॉ. एम तमिल वाणन ने जानकारी दी कि विधि-व्यवस्था बनाने के लिए 284 मजिस्ट्रेट व करीब 1200 पुलिस के जवानों को तैनात किया जा रहा है। जारी आदेश में पूजा समितियों को कोविड के संबंध में झारखंड सरकार की ओर से जारी आदेश की भी जानकारी दी।

ताकि मजिस्ट्रेट उसका पालन करा सकें। पूजा समितियां अगर कोविड के नियमों का पालन नहीं करेंगी तो मजिस्ट्रेट स्थानीय थाना में उनके खिलाफ केस करेंगे। शहर में थाना वार तीन नियंत्रण कक्ष बनाया है। सरकारी अधिकारियों व कर्मचारियों के अवकाश पर भी रोक लगा दी है। 12 अक्टूबर से शहर की यातायात व्यवस्था में भी बदलाव किया जाएगा।

यातायात व्यवस्था में बदलाव की जिम्मेदारी ट्रैफिक डीएसपी को सौंपा है। पूजा पंडाल के बाहर सीसीटीवी कैमरा लगाने का आदेश दिया गया है। छिनतई, चोरी, छेड़खानी जैसी घटनाओं को रोकने के लिए पुलिस सिविल ड्रेस में तैनात रहेगी। वहीं विसर्जन में जुलूस नहीं निकलेगा व पांच लोग ही प्रतिमा के साथ विसर्जन के लिए जाएंगे। 14 व 15 अक्टूबर को जिला में लाइसेंसी शराब की दुकानें बंद रहेंगी। बार, रेस्टोरेंट व क्लब में भी दो दिन तक शराब परोसने पर पाबंदी लगा दी है।

खबरें और भी हैं...