भास्कर खास:टाटा स्टील में 1 जून से आएगी ईएसएस और नौकरी छोड़ो-नौकरी पाओ स्कीम, सर्कुलर जारी, कर्मचारी 30 जून तक कर सकेंगे आवेदन

जमशेदपुर2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

टाटा स्टील प्रबंधन कर्मचारियों के लिए फिर से अर्ली सेपरेशन स्कीम (ईएसएस) लेकर आया है। कंपनी ने 1 से 30 जून तक ईएसएस स्कीम सुनहरे भविष्य की योजना (एसबीकेवाई) लागू की है। इसके अलावा नौकरी छोड़ो-नौकरी पाओ स्कीम (जॉब फॉर जॉब) की भी पेशकश की है।

टाटा स्टील की वाइस प्रेसिडेंट (एचआरएम) अत्रैयी सान्याल के हस्ताक्षर से सर्कुलर जारी हुआ है। इसके लिए सभी कर्मचारी आवेदन कर सकते हैं। सभी को लॉगइन की सुविधा दी गई है।

जॉब फॉर जॉब... अपनी नौकरी बच्चों को दे सकेंगे कर्मचारी, देनी होगी परीक्षा
जिन कर्मचारियों की 5.6 साल की नौकरी बाकी है, वे ही इस योजना का लाभ ले सकेंगे। वे नौकरी छोड़कर अपने योग्य बच्चे को नौकरी दे सकेंगे। कर्मचारियों के बच्चों को एनसीटीवीटी की परीक्षा पास करनी होगी। इसके लिए तीन बार मौका मिलेगा।

परीक्षा पास होने के बाद ट्रेनिंग के दौरान ही स्टाइपेंड मिलना शुरू हो जाएगा। नौकरी छोड़ने वाले कर्मचारी को हर महीने 13 हजार मिलेंगे। कर्मचारियों के डिप्लोमा या इंजीनियरिंग डिग्री वाले बच्चों को एक साल की ट्रेनिंग के बाद एनएस-7 ग्रेड में बहाल किया जाएगा। मैट्रिक पास बच्चों को दो साल की ट्रेनिंग के बाद एनएस-4 में ज्वाइन कराया जाएगा।

ईएसएस... 40+ कर्मचारी कर सकते हैं आवेदन

सुनहरे भविष्य योजना के तहत टाटा स्टील में 10 साल काम करने वाले 40 वर्ष या उसके अधिक उम्र के कर्मचारी आवेदन कर सकते हैं।

योजना के तहत नौकरी छोड़ने पर कर्मचारियों को वर्तमान बेसिक-डीए की राशि 60 साल की उम्र तक मिलेगी। हर साल इसमें 1000 रुपए की बढ़ोतरी भी होगी। आवेदन पर कर्मचारी का चयन प्रबंधन के अधिकार क्षेत्र में होगा।

इधर, अधिक उम्र के कारण लंबित नौकरी का रास्ता साफ, नन ग्रेजुएट एसोसिएट्स कर्मचारियों को भी मिलेगा प्रमोशन
टाटा स्टील प्रबंधन और टाटा वर्कर्स यूनियन की गुरुवार को हुई बैठक में कर्मचारियों के लिए दो महत्वपूर्ण निर्णय लिए गए। तय हुआ- 30 साल से अधिक उम्र के कारण जिन चयनित अभ्यर्थियों की बहाली रोक दी गई थी, उन्हें अब नियुक्ति मिलेगी।

दरअसल जॉब फॉर जॉब के तहत 9 लोगों की एसएनटीआई में ट्रेनिंग के बाद ज्यादा उम्र के कारण बहाली रोक दी गई थी। वहीं टाटा स्टील में नन वर्क्स और ऑफिस में काम करने वाले एसोसिएट्स कर्मचारियों का प्रमोशन रुका हुआ था। ग्रेजुएशन डिग्री नहीं होने से इनका सीनियर एसोसिएट्स में प्रमोशन रुका हुआ था। बैठक में तय हुआ- वन टाइम बेसिस पर नन ग्रेजुएट ऑफिस एसोसिएट्स को प्रमोशन दिया जाएगा।​​​​​​​

खबरें और भी हैं...