कोयले की कमी का असर:चार घंटे लोड शेडिंग, चार लाख की आबादी को हुई परेशानी

जमशेदपुर10 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
  • कोयले की आपूर्ति कम होने से बिजली उत्पादन पर असर, गैर कंपनी इलाके में पूरे दिन आते-जाते रही बिजली

कोयले की कमी का असर बिजली उत्पादन पर दूसरे दिन भी पड़ा। बिजली घरों से ग्रिड को कम मात्रा में आपूर्ति की जा रही है। गम्हरिया ग्रिड और गोलमुरी ग्रिड को डिमांड से एक-तिहाई (33 फीसदी) बिजली की आपूर्ति की जा रही है। ऐसे में गैर कंपनी इलाकों में तीन से चार घंटे तक लोड शेडिंग हो रही है। इससे लगभग 4 लाख की आबादी प्रभावित रही।

गुरुवार को सुबह 8 बजे से दोपहर 12 बजे तक बिजली के आने-जाने का क्रम जारी रहा। इस दौरान सब स्टेशन से रोटेशन के तहत अलग-अलग फीडरों को बिजली आपूर्ति की गई। दोपहर 12 बजे के बाद आंशिक रूप से आपूर्ति बेहतर हुई है। इस दौरान गम्हरिया ग्रिड को 120 की जगह 80 मेगावाट, जबकि गोलमुरी ग्रिड से 50 की जगह 35 मेेगावाट बिजली आपूर्ति की गई।

^ दोपहर 12 बजे से आपूर्ति में आंशिक रूप से सुधार हुआ है। यह स्थिति कब तक रहेगी, कहा नहीं जा सकता है। कोयला सप्लाई नहीं होने से बिजली उत्पादन पर असर पड़ा है। एसएलडीसी से बिजली कम मिलने को लेकर अलर्ट कर दिया है। -पीके विश्वकर्मा, ईई, करनडीह

सरयू राय ने अधिकारियाें से बातचीत की

विधायक सरयू राय ने बिजली कटाैती काे लेकर वरीय अधिकारियाें से बातचीत की। अधिकारियाें ने आश्वासन दिया है कि बिजली आपूर्ति में सुधार हाे जाएगा। बिजली विभाग के अधिकारियाें ने नियमित आपूर्ति का भराेसा दिलाया है।

खबरें और भी हैं...