फिलीपींस में दिनदहाड़े फायरिंग:मानगो के युवक की हत्या के चार माह बाद आरोपी को भी मार डाला

जमशेदपुर2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
सैम की हत्या - Dainik Bhaskar
सैम की हत्या

फिलीपींस की राजधानी मनीला के ताईताई इलाके में मंगलवार को एक सिख व्यापारी जोगिंदर सिंह उर्फ जोजो की गोली मार कर हत्या कर दी गई। उसपर मानगो के तरनजीत सिंह की हत्या का आरोप था। घटना फिलीपींस के समयानुसार दोपहर करीब डेढ़ बजे की है। उस समय व्यापारी जोजो टाइल्स खरीदने गया था और गाड़ी पार्क कर रहा था।

हत्यारों ने उसे संभलने का मौका नहीं दिया और सिर पर पिस्टल सटाकर 5 राउंड गोली चलाई।जोजो वही व्यापारी है, जिसकी व्यापारिक प्रतिद्वंदिता मानगो निवासी तरनजीत सिंह सैमी उर्फ सैम से थी। सैम की 11 जुलाई 2021 को मनीला स्थित उसके रेस्टोरेंट में ही बदमाशों ने हत्या कर दी थी।

मामले की जांच कर रही मनाली पुलिस के समक्ष सैम के मामा कुलदीप सिंह ने जोगिंदर सिंह जोजो पर हत्या कराने का शक जताया था। सैम और जोजो की हत्या में काफी समानता है। सैम के सिर और सीने पर बदमाशों ने पांच गोली चलाई थी, जबकि जोजो के सिर में पांच गोलियां मारी गई। संभावना जताई जा रही है कि सैम की हत्या के लिए हमलावरों ने जिस राशि का सौदा किया था, उसका भुगतान जोजो ने नहीं किया। इसके बाद हमलावरों ने उसे भी ठिकाने लगा दिया।

सैम की मां बोली... मलाल रहेगा फिलीपींस जाकर जोजो से पूछ नहीं सकी कि सैम के साथ ऐसा सलूक क्यों किया

मंगलवार को जब सैम के मामा कुलदीप सिंह, गुरदीप सिंह पप्पू और उसकी मां जसबीर कौर को जोजो की हत्या की जानकारी मिली तो वे निःशब्द रह गए। जसवीर कौर ने कहा- उन्हें मलाल है कि वह फिलीपींस जाकर जोजो से यह नहीं पूछ सकी कि उनके बेटे सैम के साथ ऐसा सलूक क्यों हुआ था? कुलदीप सिंह ने कहा- जोजो की तीन दुकानें थी, परंतु सैम ने 4 साल में 6 दुकानें कर ली थी और तकरीबन 25 स्टाफ उसके पास काम करते थे। व्यापार में पिछड़ने के बाद जोजो ने 9 जुलाई को सैम को परिणाम भुगतने की चेतावनी दी थी।

खबरें और भी हैं...