• Hindi News
  • Local
  • Jharkhand
  • Jamshedpur
  • From Today, The Special Train From Tatanagar To Patna Will Make Two Rounds; If Passengers Are Found, Then Additional Buses Will Also Run.

त्यौहार पर यात्रिायों को स्पेशल ट्रेन:टाटानगर से पटना के लिए स्पेशल ट्रेन आज से, दो फेरे लगाएगी; यात्री मिलेंगे तो अतिरिक्त बसें भी चलेंगी

जमशेदपुरएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
जमशेदपुर - Dainik Bhaskar
जमशेदपुर

छठ महापर्व पर बिहार जाने वाले ट्रेनाें में लंबी वेटिंग चल रही है। इसे देखते हुए दक्षिण-पूर्व रेलवे जाेनल मुख्यालय ने टाटानगर से पटना और कटिहार के लिए स्पेशल ट्रेन चलाने का फैसला लिया है। टाटानगर-पटना (ट्रेन नंबर -08111) शनिवार 6 नवंबर और साेमवार 8 नवंबर काे टाटानगर से खुलेगी। हालांकि इस ट्रेन में सेकेंड एसी से लेकर जेनरल श्रेणी की सभी सीटें शुक्रवार काे ही फुल हाे गईं। 8 नवंबर काे इस ट्रेन में स्लीपर में 120, सेकेंड एसी में 2 और जनरल काेच में 467 सीटें बची हैं। थर्ड एसी में वेटिंग है। टाटा-कटिहार स्पेशल 10 नवंबर से चलेगी।

टाटा-पटना स्पेशल में कुल 22 काेच टाटा-पटना स्पेशल ट्रेन (ट्रेन नंबर -08111) में कुल 22 कोच हैं। यह टाटानगर से शनिवार और सोमवार काे रात 9.45 बजे खुलेगी अाैर अगले दिन सुबह 8 बजे पटना पहुंचेगी। वहीं ट्रेन नंबर-08112 पटना से 7 व 9 नवंबर काे दोपहर 3 बजे खुलेगी अाैर अगले दिन सुबह 5 बजे टाटानगर पहुंचेगी। टाटा-कटिहार स्पेशल 10 नवंबर से टाटानगर-कटिहार स्पेशल ट्रेन 10 नवंबर से शुरू हाेगी और दाे दिन चलेगी। ट्रेन नंबर 08141 बुधवार और शनिवार को रात 9.25 बजे टाटानगर से खुलेगी और अगले दिन दोपहर 2.35 बजे कटिहार पहुंचेगी। वहीं ट्रेन नंबर 08142 कटिहार से शुक्रवार और सोमवार को दोपहर 2 बजे खुलेगी और अगले दिन सुबह 6 बजे टाटानगर पहुचेंगी। इस ट्रेन के चलने से बरौनी, खगड़िया, बेगूसराय, सहरसा, मानसी, नवगछिया और कटिहार जाने वाले यात्रियों को काफी राहत मिलेगी। अतिरिक्त कोच लगाई जाएंगी लंबी वेटिंग लिस्ट काे देखते हुए रेलवे टाटा-छपरा व टाटा-दानापुर स्पेशल में अतिरिक्त कोच लगा रहा है। दानापुर स्पेशल में 6 से 9 नवंबर तक एक अतिरिक्त जेनरल और स्लीपर कोच लगाई जाएगी।

तस्वीर टाटा से मुजफ्फरपुर जाने वाली अमर ज्योति बस की है। इस बस में कोरोना गाइडलाइन की धज्जियां उड़ाई जा रही है। शुक्रवार को क्षमता से दोगुने से भी ज्यादा लोगों को बस में चढ़ाया गया। लोगों को बस की फर्श पर यात्रा करते देखा गया। बस में पैर रखने की भी जगह नहीं थी। इस पर से सफर कर रही बिरसानगर की दीपिका कुमारी ने बताया- बस में रांची और रामगढ़ से भी पैसेंजर चढ़ाए गए। सभी से 900 रुपए किराया लिया गया। बस में इतनी भीड़ हो गई है कि लोगों का सांस लेना मुश्किल हो गया। रास्ते में बैग गिरने से एक महिला का सिर फुट गया। मानगो की काजल पांडे ने बताया- बस में इतनी भीड़ होने से उनकी बेटी को तीन से चार बार उल्टी हो गई।7-8 नवंबर को बिहार जाने वाली बसों की सीटें फुल

भूइंयाडीह स्थित जयप्रकाश नारायण बस टर्मिनल से बिहार से विभिन्न स्थानों के बीच नियमित रूप से चलने वाली बसों में 7 व 8 नवंबर को ‘नो -रूम’ की स्थिति बन गई है। बस की सभी सीट एडवांस बुक हो गया है। छठ पर्व में बिहार जाने वाले यात्रियों के कारण ऐसी स्थिति उत्पन्न हुई है। बिहार से विभिन्न शहर में बड़े बस ऑपरेटरों के बस का संचालन ही होता है। यात्रियों की संख्या बढ़ने के बाद बस मालिकों ने अपने अतिरिक्त बस को इन मार्गों पर चलाने का फैसला किया है । जमशेदपुर बस आनर्स वेलफेयर एसोसिएशन के कार्यकारी अध्यक्ष अभिषेक कुणाल का कहना है पर्व कारण बिहार के हर मार्ग पर बसों की संख्या बढ़ गई है। पहले जमशेदपुर से पटना के बीच जहां 7 बसों का परिचालन होता था अभी इस मार्ग पर 12 बसों का परिचालन हो रहा है। कमोबेश यहीं स्थित बिहार से सभी प्रमुख मार्गों की है। अगर डिमांड बढ़ी तो अतिरिक्त बसों का परिचालन किया जाएगा। कुणाल ने बताया कि किराए में कोई बढ़ोतरी नहीं की गई। लॉक डाउन में रियायत के बाद बसों का परिचालन जिस किराए पर हो रहा थी , उसी किराए पर अभी भी बसों का परिचालन हो रहा है। शंकर पार्वती बस के प्रबंधक प्रफुल्ल पांडे ने बताया कि टाटा से भागलपुर के बीच दो बसों का परिचालन नियमित रूप से होता है। इस मार्ग पर अतिरिक्त बस का परिचालन किया जाएगा।

पूजा सामग्रियों की कीमत 10-400 रुपए तक बढ़ी

लोक आस्था का महापर्व छठ पूजा का आरंभ नहाय-खाय के साथ 8 नवंबर से होगा। इसका समापन 11 नवंबर को पारण के साथ होगा। दीपावली के दूसरे दिन शुक्रवार से ही शहर के गली-मोहल्ले केलवा के पात पऽ उगलन सूरजमल झांकी-झुकी..., घरे-घरे सुपवा किनाए लागलऽ... आदि छठ गीतों से गुंजने लगे। शहर के प्रमुख बाजार में छठ पूजा में उपयोग होने वाली सामग्री की दुकानें लगनी शुरू हो गई हैं। दुमका, ओडिशा और बिहार से सूप-दउरा का पर्याप्त स्टाक आ गया है।

छठ सामग्री की खुदरा कीमतें (रुपए प्रति किलो) छठ सामग्री 2020 2021 छुहाड़ा 240-280 250-300 नारियल गड़ी 250 250-300 किशमिश 220-280 280-350 काजू 700-800 800-1200 अखरोट 800-1200 850-1500 मखाना 500-600 500-700 सुपारी 550-600 650-780 शुद्ध घी 440-480 450-600 गुड़ 45-50 50-80 जायफल 7 रुपए/पीस 8 रुपए/पीस बिष्टुपुर निवासी सुधा मिश्रा ने बताया- छठ पर साफ-सफाई का विशेष ध्यान रखा जाता है। नहाय-खाय के साथ छठ महापर्व आरंभ हो जाता है। इसदिन महिलाएं अपने घर-आंगन की साफ- सफाई करती हैं। प्रसाद के लिए गेहूं की धोने-सुखाने का काम होता है।

खबरें और भी हैं...