छठ की तैयारी:जमशेदपुर के 90 छठ घाटाें में करीब 75 घाटों पर फैला है कचरा नदी किनारे 36 घाट, इस बार पानी है साफ

जमशेदपुर24 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
बारीडीह घाट - Dainik Bhaskar
बारीडीह घाट
  • घाटों पर चेंजिंग रूम और लाइटिंग की भी व्यवस्था की जाएगी

महापर्व छठ की तैयारी शुरू हाे गई है। साेमवार काे नहाय-खाय के साथ चार दिवसीय महापर्व शुरू हाे जाएगा। इस बार सरकार ने जलाशयाें पर अर्घ्य देने की छूट दी है। दैनिक भास्कर की टीम ने घाटाें की तैयारियाें की पड़ताल की। पता चला कि जमशेदपुर जिले में करीब 90 छठ घाट हैं। इसमें से 36 घाट सुवर्णरेखा और खरकई नदी के किनारे हैं। पिछले वर्ष की तुलना में इस बार नदी में पानी साफ है।

इससे व्रतियों को अर्घ्य देने में परेशानी नहीं होगी, लेकिन करीब 75 छठ घाटों की अब तक साफ-सफाई नहीं हुई है। घाटों पर गंदगी फैली हुई है। शहर के 65 घाटाें में 12 ही तैयार हुए हैं। अगर युद्धस्तर पर सफाई का काम नहीं हुआ ताे छठ व्रतियाें काे मुश्किलाें का सामना करना पड़ेगा।

जिला प्रशासन का दावा है कि व्रतियों के अर्घ्य देने से पहले घाटों की साफ-सफाई कर ली जाएगी। इसके अलावा घाटों पर चेंजिंग रूम और लाइटिंग की भी व्यवस्था की जाएगी।

  • पटमदा के तीन घाटों की साफ-सफाई पुलिस करा रही
  • आदित्यपुर के 17 और गम्हरिया प्रखंड के 12 घाटों की साफ-सफाई अभी होना बाकी है

पूजा समितियां बाेलीं- बैरिकेडिंग कर एनडीआरएफ काे तैनात करें

  • नदी किनारे और तालाबाें में जहां पानी अधिक है, वहां बैरिकेडिंग किया जाए, ताकि हादसा न हाे।
  • सभी घाटाें में ऑक्सीजनयुक्त एंबुलेंस की व्यवस्था हाे। जहां भीड़ अधिक, वहां डाॅक्टराें की टीम भी तैनात हाे।
  • दाे दिन के अंदर शहर के सभी छठ घाटाें की साफ-सफाई कर ब्लीचिंग पाउडर और चूना डालें।
  • घाट से पहले पार्किंग की व्यवस्था हाे। वहां ट्रैफिक पुलिस की भी तैनाती हाे, ताकि लाेग गाड़ी लेकर घाट तक न पहुंचे।

घर पर दें अर्घ्य

छठ घाटाें पर इस बार भीड़ हाेने की संभावना है। इसलिए संभव हाे ताे घर की छत या मुहल्ले में जलकुंड बनाकर अर्घ्य दें। निगम जलकुंड बनाएगा। घाट पर जाएं ताे सीढ़ी से नीचे न उतरें। बच्चाें काे भी पानी से दूर रखें।

खबरें और भी हैं...