पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

तीन दिनों से लगातार हादसा:यार्ड में पलटी मालगाड़ी, 12 घंटे यातायात ठप, 7 ट्रेनें रद्द; 12 ट्रेनों का रूट डावयर्ट

जमशेदपुर16 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
मरम्मत कार्य का जायजा लेते डीआरएम व अन्य अधिकारी। - Dainik Bhaskar
मरम्मत कार्य का जायजा लेते डीआरएम व अन्य अधिकारी।
  • रेलवे यार्ड में तड़के 3.45 बजे तीन बोगियां पटरियों पर बिखरीं
  • टाटानगर स्टेशन पर 250 से ज्यादा यात्रियाें ने अपना टिकट रद्द कराया
  • मंगलवार को एक बोगी जबकि बुधवार सुबह 3 बोगियां बेपटरी देर रात मालगाड़ी फिर पलटी

टाटानगर रेलवे यार्ड में बुधवार तड़के 03.45 बजे मालगाड़ी की खाली रैक के तीन डिब्बे पटरी से उतर गए। तीनाें बोगियां बिखर गईं और ओवरहेड वायर टूट गया। इसकी वजह से हावड़ा-मुंबई अप रेल लाइन पर ट्रेनाें का परिचालन 12 घंटे तक ठप रहा। उत्कल, पुरुषोत्तम, दक्षिण बिहार, हावड़ा-रांची इंटरसिटी समेत करीब एक दर्जन ट्रेनाें काे विभिन्न स्टेशनाें पर राेककर डायवर्ट रूट से चलाया गया। वहीं टाटा-हटिया, टाटा-बादाम पहाड़ सहित 7 ट्रेनें रद्द की गईं।

इससे करीब 30 हजार यात्रियाें काे परेशानी हुई। टाटानगर में 250 यात्रियाें ने अपना टिकट रद्द कराया। दुर्घटना के तुरंत बाद रेलवे की इंजीनियरिंग टीम मरम्मत कार्य में जुट गई। डीआरएम वीके साहू समेत अन्य अधिकारी मौके पर पहुंचे और निरीक्षण किया। शाम 4 बजे मरम्मत हाेने के बाद अप लाइन पर ट्रेनाें का परिचालन शुरू हुआ। इस बीच टाटा स्टील में नीमपुरा से माल लेकर जा रही मालगाड़ी देर रात लोको फाटक के पास बेपटरी हो गई। इससे परिचालन पर असर नहीं हुआ।

जहां-तहां फंसी रहीं ट्रेनें, 30 हजार यात्री प्रभावित उत्कल-पुरुषोत्तम के यात्री पुरुलिया से टाटा लाए गए

कई एक्सप्रेस ट्रेनें विभिन्न स्टेशनाें पर फंसी रहीं। दक्षिण बिहार एक्सप्रेस टाटानगर नहीं आई। इसे आदित्यपुर में रोक दिया गया। इसमें टाटानगर से करीब 250 यात्री थे। रेल प्रशासन ने बस व दो इनोवा कार से इन्हें आदित्यपुर व कांड्रा स्टेशन पहुंचाकर ट्रेन पकड़वाया। हावड़ा-अमहदाबाद एक्सप्रेस को सीनी व गम्हरिया में स्टाॅपेज दिया गया, जहां टाटानगर आने वाले यात्री उतरे। उत्कल व पुरुषोत्तम के यात्रियों को पुरूलिया में उतारकर बस से लाया गया। टाटानगर में सुबह 5 बजे इमरजेंसी पूछताछ केंद्र शुरू हुआ। परिजन अपनों की पूछताछ करते रहे।

कई एक्सप्रेस ट्रेनें विभिन्न स्टेशनाें पर फंसी रहीं। दक्षिण बिहार एक्सप्रेस टाटानगर नहीं आई। इसे आदित्यपुर में रोक दिया गया। इसमें टाटानगर से करीब 250 यात्री थे। रेल प्रशासन ने बस व दो इनोवा कार से इन्हें आदित्यपुर व कांड्रा स्टेशन पहुंचाकर ट्रेन पकड़वाया। हावड़ा-अमहदाबाद एक्सप्रेस को सीनी व गम्हरिया में स्टाॅपेज दिया गया, जहां टाटानगर आने वाले यात्री उतरे। उत्कल व पुरुषोत्तम के यात्रियों को पुरूलिया में उतारकर बस से लाया गया। टाटानगर में सुबह 5 बजे इमरजेंसी पूछताछ केंद्र शुरू हुआ। परिजन अपनों की पूछताछ करते रहे।

जांच रिपाेर्ट आने के बाद दाेषियाें पर हाेगी कार्रवाई

लगातार दाे दिन मंगलवार और बुधवार काे दाे मालगाड़ियाें के दुर्घटनाग्रस्त हाेने की जांच के आदेश दिए गए हैं। मंगलवार की दुर्घटना की जूनियर लेवल और बुधवार की दुर्घटना की सीनियर लेवल टीम काे जांच कर रिपोर्ट देने काे कहा गया है। रिपोर्ट आने के बाद दाेषियाें के खिलाफ कार्रवाई की जाएगी। इंजीनियरिंग व सिग्नल विभाग को रेलवे यार्ड के पास मल्टी लाइन क्राॅसिंग की निरंतर निगरानी करने को कहा गया है।

-वीके साहू, डीआरएम, सीकेपी

खबरें और भी हैं...