पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

शिशु प्रोजेक्ट:हाईकोर्ट के जज ने कोरोना से अनाथ बच्चों की ली सुधि सोनारी, भुइयांडीह, बिरसानगर में 3 परिवारों की मदद

जमशेदपुरएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • झालसा की मदद चाहिए तो माेबाइल नंबर 9430780325 पर करें संपर्क

झारखंड राज्य विधिक सेवा प्राधिकरण (झालसा) के कार्यकारी अध्यक्ष और हाईकोर्ट के न्यायधीश अपरेश कुमार सिंह ने शुक्रवार को पत्नी वंदना सिंह के साथ शहर में तीन अलग-अलग स्थानों पर जाकर कोरोना से अनाथ हुए बच्चों की सुधि ली। कहा- झालसा की ओर से ऐसे बच्चों की हरसंभव सहायता की जाएगी।

उन्होंने तीनों स्थानों पर प्रभावित परिवारों को शिशु प्रोजेक्ट के तहत मिलने वाली सुविधाएं, स्पॉन्सरशिप स्कीम, विधवा पेंशन, नेशनल फैमिली बेनिफिट स्कीम, आयुष्मान भारत, स्टाइपेंड, अंत्याेदय योजना आदि की सुविधाएं मुहैया कराई। उन्हें ड्राई फ्रूट व मिठाई के पैकेट भी दिए गए।

जस्टिस सिंह सबसे पहले सोनारी में संगीता पटेल से मिले। इस परिवार के मुखिया सुकु पटेल की मौत के बाद तीन बच्चे अनाथ हाे गए हैं। इसके बाद ट भुइंयाडीह ह्यूम पाइप रोड दुर्गा पूजा मैदान के पास जसविंदर कौर से मिले। उनके पति गुरुवचन सिंह की मौत के बाद परिवार में अनाथ बच्ची व उसकी मां हैं।

अंत में बिरसानगर में राखी बेहरा के घर पहुंचकर उनके पति मंटू बेहरा की मौत से अनाथ हुए चार बच्चों को लाभ पहुंचाई। कहा- झारखंड में कोरोना से मरने वाले परिवार के सभी अनाथ बच्चों को झालसा के शिशु प्रोजेक्ट के तहत सारी सुविधाएं उपलब्ध कराई जा रही हैं। मौके पर झालसा के सदस्य सचिव मो. साकिर, जिला सत्र व प्रधान न्यायाधीश मनोज प्रसाद, प्रधान न्यायाधीश नीरज श्रीवास्तव, डीसी, , डीडीसी समेत अन्य अधिकारी थे।

खबरें और भी हैं...